महूः पाथ फाउंडेशन ने आयोजित किया स्वास्थ्य शिविर, 200 महिलाओं का हुआ परीक्षण


अंतर्राष्टीय महिला दिवस के अवसर पर पाथ फाउंडेशन ने स्वस्थ महिला स्वस्थ समाज अभियान के तहत एक स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन किया। इसके अलावा जेंडर स्टडीज विभाग एवं सावित्रीबाई फुले पीठ डॉ. बीआर आंबेडकर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय द्वारा महिला सशक्तिकरण थीम पर पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।


अरूण सोलंकी अरूण सोलंकी
इन्दौर Published On :
path-foundation

महू। अंतर्राष्टीय महिला दिवस के अवसर पर पाथ फाउंडेशन ने स्वस्थ महिला स्वस्थ समाज अभियान के तहत एक स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन किया। इस स्वास्थ्य जांच शिविर में दो सौ से ज्यादा महिलाओं के स्वास्थ्य परीक्षण, दवा, सैनिटरी नैपकिन व मास्क का वितरण किया गया।

महिला दिवस के अवसर पर पाथ फाउंडेशन ने स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का आयोजन किया। शिविर की अतिथि केंट बोर्ड सीईओ मनीषा जाट व प्राची मिश्रा थीं। शिविर में महिलाओं के खून की जांच, रक्तचाप की जांच, आंखों की जांच, थायरॉइड तथा गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य की जांच की गई।

यहां दो सौ से ज्यादा महिलाओं के स्वास्थ्य की जांच की गई। इसके साथ ही इन्हें सैनिटरी नैपकिन, मास्क तथा दवा का निःशुल्क वितरण किया गया।

फाउंडेशन की डायरेक्टर साक्षी अग्रवाल ने बताया कि आज के दौर में महिलाओं को स्वयं के स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना आवश्यक है क्योंकि महिलाएं सबका ध्यान रखती हैं सिवाय स्वयं के स्वास्थ्य के। हमारा उददेश्य यही है कि जब महिला स्वस्थ होगी तब ही एक मजबूत समाज हमें मिलेगा।

शिविर में डॉ. अशोक मेवाड़ा, डॉ. रजनी मेवाड़ा, राहुल मेवाड़ा, संगीता मेवाड़ा, मेघा अग्रवाल आदि ने सेवाएं दी। इस मौके पर वर्षा कौशल, नयना व्यास, निधी मिश्रा, पूजा यादव, प्रियंक अग्रवाल, सलोनी अग्रवाल, जूही चौहान, शबाना रिजवी का विशेष योगदान रहा। अंत में नीति अग्रवाल, फातिमा कुरैशी ने सभी का आभार माना।

महिला सशक्तिकरण पर पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का आयोजन –

इसके अलावा जेंडर स्टडीज विभाग एवं सावित्रीबाई फुले पीठ डॉ. बीआर आंबेडकर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय द्वारा महिला सशक्तिकरण थीम पर पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

पोस्टर प्रतियोगिता में विश्वविद्यालय के विभिन्न संकायों के विद्यार्थियों ने भाग लिया। इस अवसर पर डॉ. विशाल पुरोहित, डॉ. शैलेन्द्र मिश्रा, डॉ. मोनिका यादव, डॉ. निशा अग्रवाल सहित कार्यक्रम संयोजक डॉ. मनोज गुप्ता उपस्थित रहे।

महिला सशक्तिकरण थीम पर आयोजित इस पोस्टर प्रतियोगिता में विद्यार्थियों ने महिला समानता, जेंडर संवेदनशीलता, महिला शिक्षा, महिलाओं के खिलाफ हिंसा, महिला नेतृत्व जैसे विभिन्न मुद्दों को अपनी रचनाशीलता के जरिये प्रस्तुत करने की कोशिश की।

विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. आशा शुक्ला ने प्रतिभागिता कर रहे विद्यार्थियों को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की बधाई दी तथा परिसर को जेंडर संवेदनशील बनाने का संदेश दिया। उन्होंने बेहतर समाज निर्माण में जेंडर संवेदनशीलता और महिला नेतृत्व की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया।