भाजपा युवा मोर्चा में नियुक्ति विवाद: मंत्री ठाकुर ने बताया संगठन का काम

अरूण सोलंकी अरूण सोलंकी
इन्दौर Published On :

महू (इंदौर)। भारतीय जनता युवा मोर्चा में नियुक्ति को लेकर चल रहे विवाद पर मंत्री उषा ठाकुर ने पूरी तरह से संगठन का काम बताया है। उन्होंने कहा कि मोर्चा के नगर अध्यक्ष पद पर जो पहली नियुक्ति हुई है उसे ही अध्यक्ष माना जाए।

भारतीय जनता युवा मोर्चा के नगर मंडल अध्यक्ष की नियुक्ति इन दिनों भाजपा में घमासान मचाए हुए है। जिला अध्यक्ष मनोज ठाकुर द्वारा 22 दिन बाद नए अध्यक्ष की नियुक्ति करना तथा पूर्व मे विधायक उषा ठाकुर तथा नगर अध्यक्ष पीयूष अग्रवाल की सहमति से नए अध्यक्ष की नियुक्ति करना चर्चा का विषय बना हुआ है। आपसी राजनीति रस्साकसी के चलते महू शहर में इन दिनों चर्चा का विषय है।

सोमवार की शाम को मंत्री उषा ठाकुर ऋषभ सोलंकी के पारिवारिक कार्यक्रम में पहुंची थीं जहां पर चर्चा करते हुए उन्होंने नियुक्ति के संबंध में किए गए सवाल को पूरी तरह टाल दिया।

उषा ठाकुर ने कहा कि यह एक संगठन का मामला है और संगठन स्तर पर ही इसका हल किया जाएगा। जब उनसे पूछा गया कि दो-दो नगर अध्यक्ष में से किसे अध्यक्ष माना जाए तो उन्होंने कहा कि जिसकी नियुक्ति पहले की गई उसे ही अध्यक्ष माना जाएगा।

हालांकि, 4 साल पूर्व जिला अध्यक्ष द्वारा की गई नियुक्ति के सवाल पर उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

मनोज ठाकुर जिला अध्यक्ष भारतीय युवा मोर्चा द्वारा नया अध्यक्ष व कार्यकारिणी की नियुक्ति के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस मामले में आप उनसे ही बात करें तो ज्यादा बेहतर होगा। मैं इस संबंध में कुछ नहीं बोल पाऊंगी।

 

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राऊ में मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के सचिव शक्ति गोयल को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह द्वारा धक्के देकर बाहर निकालने के वीडियो के संबंध में उन्होंने कहा कि यह गलत है। शक्ति गोयल भले ही कांग्रेस के नेता हैं, लेकिन मेरे विधानसभा क्षेत्र के वरिष्ठ नागरिक हैं। उनके साथ ऐसा किया जाना हम लोगों के लिए दुख का विषय है। ऐसा नहीं होना चाहिए था।