अस्पताल में इंजेक्शन की कालाबाज़ारी का आरोप, सीएम और कलेक्टर को कोस रहे लोग


अपने परिजन को खोने वाली महिला ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कलेक्टर मनीष सिंह पर ख़ासी नाराज़ दिखाईं दीं।


देश गांव
इन्दौर Updated On :

इंदौर। कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर लगाम लगा पाना फिलहाल बेहद मुश्किल नज़र आ रहा है। गुरुवार रात जारी हुए बुलेटिन में 887 नए संक्रमित मिले हैं। बुलेटिन के मुताबिक करीब 6921 मरीज़ों का इलाज चल रहा है है हालांकि यह संख्या हर घंटे बढ़ भी रही है। इंदौर में फिलहाल संक्रमण की दर 14.6 प्रतिशत है। 

कोरोना का इलाज मुश्किल बना हुआ है। कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए रेमडिसिवर इंजेक्शन फिलहाल संजीवनी बना हुआ है। संक्रमण की ज्यादा शिकायत वाले मरीज़ों के लिये यह जान बचाने की फिलहाल एक मात्र दवा बताई जा रही है।  सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती मरीजों के परिजन एक इंजेक्शन के लिए दर-दर भटक रहे हैं। लोगों के मुताबिक उनके मरीज़ों की जान जा रही है।

इस बीच ख़बर यह भी है कि अस्पतालों में यह इंजेक्शन ब्लैक में बेचा जा रहा है। इस बीच सुपर स्पेश्यालिटी अस्पताल की एक नर्स का वीडियो वायरल हो रहा है। आरोप लगाया गया कि नर्स यह इंजेक्शन ब्लैक में बेच रहीं थी।

इसके बाद अस्पताल में हड़कंप मच गया। हालांकि बाद में अस्पताल ने स्पष्ट किया कि नर्स अस्पताल द्वारा जारी किये गए इंजेक्शन को ही मरीज़ के लिये लेकर गईं थीं। हालांकि इस सफाई के बाद भी इस मामले में सवाल कम नहीं हुए हैं।

वीडियो इंदौर के सुपर स्पेशयलिटी अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित युवक के परिजनों ने बनाया है। इस युवक की गुरुवार को मौत हो गई। युवक की मां का रो-रोकर बुरा हाल है। मां ने रोते- रोते आरोप लगाया कि उसकी दोनों बहुूएं एक इंजेक्शन के लिए पूरे शहर में भटकती रहीं लेकिन रेमडिसिवर इंजेक्शन नहीं मिला।

वहीं, सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में इंचार्ज सिस्टर रेमडिसिवर बेच रही थी, जब उसका वीडियो बनाया गया तो मैडम बोली- मैं मरीज हूं। मरीज थी तो दो इंजेक्शन लेकर क्यों घूम रहीं थी। यह सवाल करने पर वह मौके से निकल गईं।

गौर से देखें तो वीडियो में एक महिला डॉक्टर के पास खड़ी है। बिस्तर पर दो रेमडिसिवर के पैकेट रखे हुए है। वीडियो बनाने वाला शख्स यह भी कह रहा है कि यदि आप पेशेंट है तो इस तरह से डॉक्टर के पास क्यों खड़ी है। लेकिन महिला कुछ भी बोलने से इंकार करती रही और वीडियो बनता देख वहां से रवाना हो गई। सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में बने इस वायरल वीडियो में यह भी बताया जा रहा है कि यह महिला इंचार्ज सिस्टर है और इंजेक्शन बेचने का काम कर रही थीं।

वहीं युवक की मां ने कहा कि मैंने आज अपना बेटा खोया है। जिनके घर में इकलौते हैं, उनका क्या। सीएम क्या कर रहे हैं। वे सभा ले रहे हैं। यहां पर न तो डॉक्टर मरीजों का इलाज कर रहे हैं और न ही कोई सुविधा है। कोरोना संक्रमित मर रहे हैं। इन्हें देखने वाला कोई नहीं है। महिला कलेक्टर मनीष सिंह को भी कोसती है। इस मामले में कोई ठोस जवाब फिलहाल प्रशासन की ओर से नहीं आया है।

(यह वीडियो इंदौर में कोरोना संक्रमितों के परिजनों के हैं जो व्यवस्था से निराश नज़र आ रहे हैं, वीडियो को किसी भी तरह से एडिट नहीं किया गया है)