राजगढ़ः एक हज़ार शिक्षकों को मिलने लगी छठे वेतनमान की तीसरी किश्त, छह हज़ार को अभी भी है इंतज़ार


खिलचीपुर ब्लॉक के एक हजार से अधिक शिक्षकों को इस किस्त का भुगतान किया गया है। भुगतान में लगातार हो रही देरी को लेकर आजाद अध्यापक संघ ने जिला शिक्षाअधिकारी बीएस बिसोरिया को एक ज्ञापन भी सौंपा था।


रवि श्रीवास्तव रवि श्रीवास्तव
घर की बात Updated On :

राजगढ़। आठ माह बाद ही सही जिले के शिक्षकों को अब छठवें वेतनमान की तीसरी किश्त का भुगतान मिलना शुरू हो गया है। शासन ने  जिले के करीब 7 हजार शिक्षकोंं को अप्रैल-मई 2020 मेें इस किस्त का भुगतान करने के लिए निर्देश दिए थे लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही से इसका भुगतान अभी तक बाकी था।

खिलचीपुर ब्लॉक के एक हजार से अधिक शिक्षकों को इस किस्त का भुगतान किया गया है। भुगतान में लगातार हो रही देरी को लेकर आजाद अध्यापक संघ ने जिला शिक्षाअधिकारी बीएस बिसोरिया को एक ज्ञापन भी सौंपा था। संघ के जिलाध्यक्ष भगवानसिंह गुर्जर के अनुसार शासन स्तर से भुगतान को लेकर रोक लगा दी गई थी। हाल ही में शासन स्तर से इस रोक को हटा दिया गया है।

जिले के अध्यापक संवर्ग साथियों को इस माह दिसंबर में भुगतान कराने के लिए संबंधित जिले के समस्त डीडीओ को  ज्ञापन दिया गया था। अपनी मांगों को लेकर जिला शिक्षाधिकारी बिसोरिया से संघ के पदाधिकारी जगदीश भलवाला, राधेसिंह जाटव, दोलत वर्मा, भागीरथ दांगी, घनश्याम चंद्रवंशी, प्यारेलाल सोलंकी, कमलेश शर्मा, नारायण सिह वर्मा सहित अन्य ने अधिकारी से मुलाकात की।

इसके अलावा जिले के शेष शिक्षकों के लिए वेतन की किश्त का भुगतान कराने के लिए भी संघ ने प्रयास करने की बात कही है। मामले में शिक्षक अब शासन स्तर तक अपनी बात पहुंचाने के लिए प्रयास कर रहे हैं।

पेंशनर्स-डे पर पेंशन अधिकारी व स्टॉफ ने किया पेंशनर्स संघ के पदाधिकारियों का सम्मान

राजगढ़। जिला प्रशासन व जिला पेंशन कार्यालय के स्टॉफ ने गुरुवार को पेंशनर्स-डे के अवसर पर जिला पेंशन कार्यालय में पेंशनर्स संघ राजगढ़ के पदाधिकारियों का सम्मान किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता अपर कलेक्टर कमल नागर ने की।

कार्यक्रम को जिला पेंशन एवं कोषालय अधिकारी आरएल गोलिया ने संबोधित किया। सम्मान समारोह के बाद पेंंशनर्स संघ के अध्यक्ष दिनेश नागर ने जिला प्रशासन का आभार माना। अपर कलेक्टर श्रीनागर ने संबोधित करते हुए पेंशनर्स को सामाजिक कार्यों में सहभागी बनने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण व कुपोषित बच्चों के लिए पेंशनर्स को सहभागिता करना चाहिए। जिला प्रशासन भी इस दिशा में कार्य कर रहा है। पेंशनर्स से कहा कि आप भी जिला प्रशासन के कार्य में सहभागी बनें।



Related