छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने पेश की मिसाल, रोके सभी बड़े प्रोजेक्ट


छत्तीसगढ़ सरकार ने अपने कई निर्माणाधीन प्रोजेक्ट पर रोक लगा दी है।


देश गांव
राजनीति Updated On :

भोपाल। कोरोना काल जैसी राष्ट्रीय आपदा के दौरान भी केंद्र सरकार भले ही अपनी महत्वाकांक्षी परियोजना सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को बंद नहीं कर रही है लेकिन छोटे राज्य इस परिस्थिति में मिसाल पेश कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ सरकार ने अपने कई निर्माणाधीन प्रोजेक्ट पर रोक लगा दी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नवा रायपुर में बन रहे नये राजभवन, विधानसभा भवन, सीएम हाउस, मंत्रियों एवं वरिष्ठ अधिकारियों के आवासीय परिसर के निर्माण कार्यों को रोक दिया है।

इस संबंध में निर्देश जारी कर दिये गए हैं और कुछ टेंडरों को निरस्त किया गया है। यहां की कांग्रेसी सरकार ने इन कार्यों का भूमिपूजन नवम्बर 19 में किया था।

जिन टेंडरों को निरस्त किया गया है उनमें  सेक्टर-19 में नये विधानसभा भवन के निर्माण के लिए 245 करोड़ 16 लाख और 118 करोड़ के  अन्य निर्माण कार्यों कें टेंडर जारी हैं।

मोदी सरकार के कोरोना की भयावह स्थिति के बीच भी सेन्ट्रल विस्टा के कार्यों को जारी रखे हुए है। जिसे लेकर सरकार की खूब आलोचना हो रही है। इनमें भारतीय से लेकर विदेशी मीडिया भी शामिल हैं। हालांकि कांग्रेस नेता राहुल और प्रियंका गांधी भी इन निर्माण कार्यों को जारी रखे जाने पर सवाल उठाते रहे हैं।

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट

करीब बीस हज़ार करोड़ रुपये से अधिक की कीमत का सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट ऐसे समय में जारी है जब देश कोरोना महामारी के कारण रोज़ाना हजारों की संख्या में मौतें हो रहीं हैं। अस्पतालों और स्वास्थ्य सेवाओं की भयंकर कमी है और यहां के दृश्य देखकर दुनियाभर के लोग भारत की फ़िक्र कर रहे हैं।

ऐसे में कांग्रेस सरकार का यह कदम सरहानीय तो माना ही जा रहा है और इसके राजनीतिक मतलब भी निकाले जा रहे हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस तरह से मोदी सरकार को एक संदेश देने की कोशिश की हैै हालांकि यह भी याद रखा जाना चाहिए कि बघेल ने इन निर्माण कार्यों को मोदी सरकार की आलोचना होने के काफी बाद बंद किया है।



Related