MP उपचुनाव: EC की कार्रवाई के बाद कमल नाथ ने कहा -‘स्टार प्रचारक न तो कोई पद है और न ही कोई दर्जा!’


कांग्रेस छोड़ बीजेपी में गये ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि, मैं हैरान हूँ, चुनाव आयोग की कार्रवाई और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा उनसे माफ़ी मांगने की बात कहने के बाद भी उन्होंने माफ़ी नहीं मांगी. जनता उन्हें सबक सिखाएगी 3 नवम्बर को.


देश गांव
राजनीति Updated On :

मध्यप्रदेश उपचुनाव के प्रचार के बीच राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस ने कमल नाथ के  स्टार प्रचारक के दर्जे को चुनाव आयोग द्वारा खत्म कर दिए जाने से जहां कांग्रेस की छवि को छोट पहुंची है, वहीं कमल नाथ का कहना है कि वे आयोग के फैसले पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं. किन्तु साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि ‘स्टार प्रचारक न तो कोई पद है और न ही कोई दर्जा, मैं चुनाव आयोग के फैसले पर टिप्पणी नहीं करना चाहता, केवल 10 नवंबर के बाद टिप्पणी करूंगा. अंत में जनता सबसे ज्यादा मायने रखती है और वो सब कुछ जानती है.’

 

चुनाव आयोग द्वारा कमल नाथ का स्टार प्रचारक का दर्जा छीन लिए जाने के बाद बीजेपी और अधिक हमलावर हो गयी है. शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, कमल नाथ घमंडी हैं. उन्होंने चुनाव आयोग को ही गलत बता दिया.

कांग्रेस छोड़ बीजेपी में गये ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि, मैं हैरान हूँ, चुनाव आयोग की कार्रवाई और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा उनसे माफ़ी मांगने की बात कहने के बाद भी उन्होंने माफ़ी नहीं मांगी. जनता उन्हें सबक सिखाएगी 3 नवम्बर को.

बता दें कि चुनाव आयोग ने सबसे पहले आइटम शब्द के इस्तेमाल पर कमलनाथ को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था. कमलनाथ के नोटिस के जवाब भेजने पर चुनाव आयोग ने पीसीसी चीफ कमलनाथ को चुनाव प्रचार में इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल नहीं करने की हिदायत दी थी. लेकिन चुनाव आयोग की हिदायत के बाद भी लगातार बयानों से बीजेपी नेताओं पर हमला बोलने के मामले में कमलनाथ पर अब एक्शन हुआ है.

 

 

 

 

 

 

 



Related