1634 नए संक्रमित, इंदौर और भोपाल सबसे संक्रमित जिले


प्रदेश में जहां कई जिलों में कोरोना के डर से आयोजनों को सीमित किया जा रहा है तो वहीं मुख्यमंत्री ने कम प्रभावित जिलों में आयोजनों में ज्यादा सख्ती न करने के लिए कहा है। हालांकि ऐसे में लोगों को खुद ही सतर्कता बरतनी होगी।


आदित्य
सबकी बात Published On :
Photo Credit: Pan American Health organization


भोपाल। शनिवार को प्रदेश में 1634 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। सबसे अधिक संक्रमित इंदौर में ही मिल रहे हैं। स्वास्थ्य संचालनालय की रिपोर्ट के अनुसार इंदौर में 568 और भोपाल में 356 नए मरीज मिले हैं। वहीं जबलपुर में 48  और ग्वालियर में 86  नए  संक्रमित मिले हैं।

इसके अलावा खरगोन में 20, सागर में 23, उज्जैन में 28, रतलाम में 43, धार में 20, रीवा में 23,  होशंगाबाद में 14, नरसिंहपुर में 23, शिवपुरी में 18, मुरैना में दो, बैतूल में 19, विदिशा में 33 शहडोल में 8,सतना में 13, नीमच में छह, बालाघाट में 23,  छिंदवाड़ा में आठ, दमोह में आठ,  सीहोर में नौ, बड़वानी में 12, मंदसौर में 13, देवास में 19, रायसेन में 15, राजगढ़ में 19, खंडवा में 16, झाबुआ में 11, कटनी में पांच, अनूपपुर में आठ, हरदा में 12, छतरपुर में पांच, सीधी में छह, दतिया में 13,  सिंगरौली में दो,  शाहजहांपुर में 8,  भिंड में छह,  सिवनी में 4, शिवपुरी में पांच,  गुना में 12,  टीकमगढ़ में दो,  अलीराजपुर में सात,  उमरिया में तीन,  मंडला में 6,  अशोक नगर में 9,  पन्ना में दो,  डिंडोरी में छह,  बुरहानपुर में एक,  आगर मालवा में चार,  निवाड़ी में चार संक्रमित मिले हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक 28 नवंबर को 30312 लोगों की जांच की गई है। इनमें से 28678 लोगों के की रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई है।  वहीं 196 सैंपल रिजेक्ट हुए हैं। प्रदेश में फिर एक बार संक्रमण की दर 5% से अधिक हो गई है नई रिपोर्ट में यह 5.3%  है।

अब तक 203231 लोग संक्रमित हुए हैं इनमें से 3237 लोगों की मौत हो चुकी है और 185013 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। प्रदेश में फिलहाल 14981 सक्रिय मामले बताए गए हैं। प्रदेश में शनिवार को 13 कोरोना मरीजों की मौत दर्ज की गई है इनमें से तीन इंदौर में दो भोपाल में एक जबलपुर में एक सागर में दो रतलाम में हैं।

प्रदेश में जहां कई जिलों में कोरोना के डर से आयोजनों को सीमित किया जा रहा है तो वहीं मुख्यमंत्री ने कम प्रभावित जिलों में आयोजनों में ज्यादा सख्ती न करने के लिए कहा है। हालांकि ऐसे में लोगों को खुद ही सतर्कता बरतनी होगी।



Related