बेकाबू हो रहा कोरोना, इंदौर में 582 तो भोपाल में 324 नए संक्रमित, कलेक्टरों को ठोस कदम उठाने के निर्देश


मुख्यमंत्रियों के साथ इस विषय पर हुई बातचीत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संक्रमण की दर को पांच प्रतिशत के नीचे रखने के लिए कहा है लेकिन मध्यप्रदेश में यह इससे अधिक बनी हुई है। ऐसे में कलेक्टरों को अब ठोस कदम उठाने के लिए कहा जा रहा है।


देश गांव
सबकी बात Updated On :
Representational Image Courtesy: Deccan Herald


इंदौर। प्रदेश में 1766 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। यहां इंदौर जिला सबसे अधिक संक्रमितों वाला स्थान बना हुआ है। इंदौर प्रशासन की रिपोर्ट के मुताबिक यहां 582 संक्रमित मिले हैं।

स्वास्थ्य संचालनालय के द्वारा जारी रिपोर्ट में भोपाल में 324, ग्वालियर में 88, जबलपुर में 67 और रतलाम में 64 नए संक्रमित मिले हैं। इसके अलावा जिन दूसरे जिलों में अधिक संख्या में कोरोना संक्रमित मिले हैं उनमें धार में 38, खरगोन में 29, सागर में 30, रीवा- झाबुआ में 25-25, विदिशा में 36 और देवास में 32, दमोह, सीहोर और शिवपुरी में 20-20, उज्जैन में 19 नए संक्रमित मिले हैं।

संचालनालय की रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार को संक्रमण के शिकार 11 लोगों की मौत भी दर्ज की गई है। इनमें इंदौर में तीन और भोपाल में दो के अलावा भिंड, बैतूल, सागर, ग्वालियर, जबलपुर, देवास में भी संक्रमितों की मौत हुई है।

प्रदेश में संक्रमण की दर 5.4 है और यहां 12979 लोग अभी भी संक्रमित हैं। वहीं प्रदेश में अब तक 196511 लोग अब तक संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 3183 की मौत हो चुकी है। संक्रमण के कारण सबसे ज्यादा मौतें इंदौर और भोपाल जिलों में ही हुई हैं। इंदौर में  738 और भोपाल में 508 लोगों की मृत्यु संक्रमण के चलते हुए है। इसके अलावा ग्वालियर में 177, जबलपुर में 219, सागर में 135 और उज्जैन में 99 लोगों की मौत अब तक इसी वजह से हो दर्ज की गई है।

प्रदेश में संक्रमितों के मिलने की दर 5.4 है हालांकि मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना के बारे में हुई बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे पांच प्रतिशत के नीचे रखने के लिए कहा है। इसे लेकर प्रदेश में कलेक्टरों को ठोस कदम उठाने के लिए भी कहा गया है। जहां कुछ शहरों में नाईट कर्फ्यू लागू किया जा चुका है तो वहीं कई शहरों में अब वैवाहिक कार्यक्रमों में कम से कम लोगों को आमंत्रित करने के लिए कहा जा रहा है। इंदौर में इसकी सीमा 250 रखी गई है।

इंदौर प्रशासन द्वारा जारी रिपोर्ट



Related