कोरोना वायरस का असर, अब अगले साल ही मध्यप्रदेश के खुलेंगे स्कूल


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पहली से आठवीं तक की कक्षाएं 31 मार्च तक नहीं लगेंगी। इसके अलावा पांचवीं और आठवीं कक्षा की बोर्ड परिक्षाएं भी नहीं होंगी। ऐसे में अब इन कक्षाओं की पढ़ाई अगले सत्र यानि 1 अप्रैल 2021 से शुरु होंगी।


देश गांव
पढ़ाई-लिखाई Updated On :

भोपाल। कोरोना काल के दौरान मध्यप्रदेश के स्कूलों पर खासा असर पड़ा है। अब तक स्कूलों के खोले जाने के बारे में काफी बार चर्चा होती रही लेकिन अब तय हुआ है कि प्रदेश के स्कूल इस शैक्षणिक सत्र में नहीं खोले जाएंगे। मुख्यमंत्री ने स्कूल शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान यह बातें कहीं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पहली से आठवीं तक की कक्षाएं 31 मार्च तक नहीं लगेंगी। इसके अलावा पांचवीं और आठवीं कक्षा की बोर्ड परिक्षाएं भी नहीं होंगी। ऐसे में अब इन कक्षाओं की पढ़ाई अगले सत्र यानि 1 अप्रैल 2021 से शुरु होंगी।

इस दौरान यह भी बताया गया कि पहली से आठवीं कक्षा के प्रोजेक्ट वर्क के आधार पर मूल्यांकन किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि अब स्कूल 31 दिसंबर तक नहीं खुलेंगे। वहीं कक्षा दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परिक्षाएं होंगी। इनकी कक्षाएं जल्दी ही शुरु की जाएंगी। क्लासेस में कोविड गाइडलाइन का पालन किया जाएगा इसके साथ ही कक्षा नौंवीं और ग्यारहवीं कक्षाएं भी शुरु होंगी लेकिन इन्हें हफ्ते में एक-दो दिन ही लगाया जाएगा।

 

मुख्यमंत्री ने प्रदेश की स्कूल शिक्षा में काफी परिवर्तन लाना है ऐसे में स्कूलों में नैतिक शिक्षा पर जोर देना होगा। जिसके माध्यमं से विद्यार्थियों को ज्ञान और कौशल प्रदान करने के साथ ही उन्हें संस्कारवान नागरिक बनाया जा सके। स्कूल शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए शिक्षाविदों की एक समिति भी बनाए जाने की बात मुख्यमंत्री ने कही है। उन्होंने कहा कि स्कूलों में विद्यर्थियों को दिए जाने वाले गणवेश स्वसहायता समूह बनाएंगे।

 

 

 



Related