ग्वालियर में अपनी चुनावी सभा रोके जाने पर बोले बघेल- महाराज का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है!


ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में चुनावी सभाओं पर हाईकोर्ट ने रोक लगा रखी है। इस पर भाजपा के पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है। इस पर आज सुनवाई होने की उम्मीद है।



बड़ी बात Updated On :

भोपाल। कांग्रेस के लिए प्रचार करने के लिए आए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री की चुनावी सभाएं ग्वालियर में होनी थी लेकिन इसके लिए चुनाव आयोग ने अनुमति नहीं दी। इसके बाद उन्होंने पत्रकार वार्ता कर अपनी बात  रखी।

इस दौरान बघेल ने मुख्यमंत्री शिवराज और कांग्रेस छोड़कर गए ज्योतिरादित्य सिंधिया पर तीखी टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि महाराज के एक अदने से कार्यकर्ता ने ही महाराज को लोकसभा चुनाव हरा दिया और इससे महाराज का मानसिक संतुलन बिगड़ चुका है।

बघेल ने कहा कि मध्यप्रदेश में चुनाव भाजपा के द्वारा थोपा जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा जानती है उसने क्या किया है और इसलिए अब कांग्रेस को रोका जा रहा है।

उनकी  सभाएं ग्वालियर, मुरैना, भांडेर और दिमनी में उनकी सभाएं होनी थी। जो निरस्त कर दी गईं। बघेल ने प्रेसवार्ता में कहा कि पूरे देश में चुनाव प्रचार हो रहे हैं लेकिन कांग्रेस को मप्र में रोका जा रहा है।  बघेल ने यहां केंद्र सरकार के द्वारा लाए गए कानूनों की आलोचन की।

उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा मंडी समाप्त करके निजी मंडियों को लाने, कान्ट्रेक्ट फार्मिंग को नए नियम के साथ शुरू  करने और खाद्य सुरक्षा एक्ट को खत्म करने जैसे नियमों की कड़ी आलोचना की।

उल्लेखनीय है कि ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में चुनावी सभाओं पर हाईकोर्ट ने रोक लगा रखी है। इस पर भाजपा के पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है। इस पर आज सुनवाई होने की उम्मीद है।

हाईकोर्ट के इस फैसले को लेकर खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी बयान दे चुके हैं। उन्होंने कहा था कि बिहार में सभाओं को अनुमति दी गई है, लेकिन मध्य प्रदेश में नहीं, ऐसा क्यों? उन्होंने ये भी कहा था कि मध्य प्रदेश के एक हिस्से में चुनावी सभा हो सकती है, दूसरे हिस्से में नहीं। एक तो एक देश में दो विधान जैसी स्थिति हो गई है।