दिग्विजय सिंह के ‘गद्दार रेट कार्ड’ पर ECI में शिकायत, बढ़ सकती है मुश्किल

देश गांव
बड़ी बात Updated On :
Source: Business standard

भोपाल।  उपचुनाव के नजदीक आते हुए कांग्रेस की मुश्किलें भी बढ़ रहीं हैं। जहां एक ओर कमलनाथ के बयान पर बवाल जारी है तो वहीं दिग्विजय सिंह द्वारा एक रोज पहले किया गया “गद्दार रेट कार्ड” वाला फेसबुक संदेश भी कांग्रेस के लिए मुसीबत बनता नजर आ रहा है। भाजपा द्वारा इसे लेकर चुनाव आयोग में शिकायत भी की गई है।

वहीं दिग्विजय के खिलाफ मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, प्रद्युम्न सिंह तोमर, महेंद्र सिंह सिसौदिया और विधायक मुन्नालाल गोयल ने दस-दस करोड़ रुपए का मानहानि का केस भी लगाया है।

दिग्विजय सिंह द्वारा जिन प्रत्याशियों की तस्वीर लगे रिपोर्ट कार्ड जारी किए गए थे वे व्यक्तिगत स्तर पर भी आयोग में  शिकायत कर रहे हैं और इनमें से मंदसौर के सुसावरा से भाजपा प्रत्याशी हरदीप सिंग डंग की शिकायत स्वीकार भी हो गई है। इसे आचार संहिता का उल्लंघन माना गया है।

17 अक्टूबर को किए गए अपने फेसबुक अकाउंट से दिग्विजय सिंह ने करीब सात महीने पहले से अब तक कांग्रेस छोड़ने वाले कई सभी विधायकों के तस्वीर लगाकर कार्ड जारी किए थे। इन्हें गद्दार रेट कार्ड कहा गया।

इन विधायकों पर पैंतीस करोड़ रुपए लेकर पार्टी छोड़ने और सरकार गिराने का आरोप लगाया गया था। इसके साथ ही उन्हें मिले वोट के आधार पर प्रति वोट की कीमत भी लगाई गई थी।

पूर्व मुख्यमंत्री के द्वारा साझा किए जाने के  बाद ये गद्दार कार्ड सोशल मीडिया पर खूब तैर रहे हैं और उपचुनावों वाले इलाकों में इन्हें खास देखा और साझा किया जा रहा है।

इन रिपोर्ट कार्ड को बाद में कांग्रेसी नेताओं ने अपने-अपने उपचुनाव वाले इलाकों में जमकर वायरल किया था। हालांकि अब तक सुसवारा प्रत्याशी की ही शिकायत पर प्रकरण दर्ज हुआ है लेकिन इसके बाद अन्य प्रत्याशी भी अपने विरोधी कांग्रेसियों को घेरने के लिए शिकायत लेकर आगे आ सकते हैं।

सुसवारा के भाजपा प्रत्याशी हरदीप सिंह डंग ने अपने निर्वाचन अभिकर्ता एडवोकेट प्रफुल्ल पटेल के माध्यम से कांग्रेस के नेता और पूर्व मंत्री सुभाष सजोतिया की शिकायत की है। जिस पर प्रकरण दर्ज हुआ है।  सजोतिया ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर डंग के नाम और तस्वीर वाला यही गद्दार रेट कार्ड साझा किया था।

डंग के निर्वाचन अभिकर्ता प्रफुल्ल यजुर्वेदी ने बताया कि कांग्रेस नेता सजोतिया के द्वारा भाजपा प्रत्याशी हरदीप सिंह डंग को सोशल मीडिया पर भ्रष्ट नेता के तौर पर पेश किया है। जिससे आम जनता और मतदाताओं में गलत संदेश जा रहा है।