कोरोना से मशहूर कॉर्डियोलॉजिस्ट डॉ. केके अग्रवाल का निधन, ले चुके थे कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज


डॉ. अग्रवाल के ट्विटर हैंडल से इस बात की जानकारी मंगलवार को दी गई कि 17 मई को रात साढ़े 11 बजे उनका निधन हो गया। उन्हें कुछ दिनों पहले ही दिल्ली एम्स में भर्ती किया गया था, जहां वे वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे।


देश गांव
बड़ी बात Published On :
dr-kk-aggarwal

नई दिल्ली। पद्मश्री से सम्मानित व मशहूर कॉर्डियोलॉजिस्ट डॉ. केके अग्रवाल का कोरोना के कारण 62 वर्ष की आयु में निधन हो गया।

डॉ. अग्रवाल के ट्विटर हैंडल से ही इस बात की जानकारी मंगलवार को दी गई कि 17 मई को रात साढ़े 11 बजे उनका निधन हो गया।

उन्हें कुछ दिनों पहले ही दिल्ली एम्स में भर्ती किया गया था, जहां वे वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे।

महामारी के दौरान उन्होंने अपने वीडियोज के जरिये लोगों को जागरूक किया।

कोरोना महामारी के दौरान डॉ. अग्रवाल ने ज्यादा से ज्यादा लोगों को संक्रमण के बारे में जागरूक करने की कोशिशें जारी रखी थीं। इन्हीं कोशिशों के चलते डॉ. अग्रवाल ने अपने विभिन्न वीडियो और एजुकेशनल प्रोग्राम के जरिये 10 करोड़ लोगों को कोरोना के बारे में अहम जानकारियां दी थीं।

डॉ. केके अग्रवाल ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लिए थे। कोरोना संक्रमण हुआ तो उन्होंने 28 अप्रैल को ट्विटर हैंडल पर वीडियो भी शेयर किया था, जिसके जरिये उन्होंने डोज लेने के बावजूद संक्रमण होने का अपना अनुभव शेयर किया था।

इस वीडियो में उन्होंने कहा था कि अगर आपको वैक्सीनेशन के बाद कोरोना होता है तो आपको गंभीर निमोनिया नहीं हो सकता। आप नॉन सीरियस कंडीशन में रहते हैं। वैक्सीनेशन से मत डरिए। ये आपको कोरोना से बचाता है।

बता दें कि एक हफ्ते पहले डॉ. अग्रवाल को एम्स में भर्ती किया गया था। इसके एक-दो दिन बाद ही कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में उनकी मौत का दावा किया गया, जिसके बाद 14 मई को उनके परिवार ने ट्विटर पर इन खबरों का खंडन किया।

उनकी पत्नी व बच्चों ने कहा कि डॉ. अग्रवाल के बारे में सामने आ रही खबरों से परिवार बहुत परेशान है। डॉ. अग्रवाल बहुत गंभीर लड़ाई लड़ रहे हैं, लेकिन उनकी हालत स्थिर है। हम आपसे अनुरोध करते हैं कि ऐसी अफवाहों पर विश्वास न करें।



Related