कठुआ गैंगरेप पीड़िता का केस लड़ने वाली वकील दीपिका सिंह पर ट्वीट को लेकर FIR


2018 में कठुआ गैंगरेप पीड़िता का केस लड़ने वाली वकील दीपिका सिंह राजावत पर जम्मू-कश्मीर पुलिस ने रविवार को उस ट्वीट को लेकर केस दर्ज किया है, जिसके जरिये उन पर एक समुदाय विशेष की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप है।


देश गांव
बड़ी बात Published On :
deepika singh rajawat

श्रीनगर। 2018 में कठुआ गैंगरेप पीड़िता का केस लड़ने वाली वकील दीपिका सिंह राजावत पर जम्मू-कश्मीर पुलिस ने रविवार को उस ट्वीट को लेकर केस दर्ज किया है, जिसके जरिये उन पर एक समुदाय विशेष की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप है।

दीपिका राजावत ने खुद ट्वीट कर इसकी पुष्टि की है उनके खिलाफ जम्मू के गांधीनगर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है।

एक स्थानीय पुलिस अधिकारी ने इस मामले में केस दर्ज करने की पुष्टि करते हुए बताया कि कई लोगों की शिकायतों के बाद मामला दर्ज किया गया है। पुलिस आरोपी वकील के खिलाफ कार्रवाई शुरू करने से पहले साइबर सेल से ट्वीट के सोर्स का पता लगा रहे हैं।

उन्होंने कहा-

दीपिका राजावत पर आईपीसी की धारा 295ए और 505(बी)(2) के तहत मामला दर्ज किया गया। 295 (ए) जानबूझकर किसी समुदाय के लोगों के बीच घृणा पैदा करने, किसी की भावनाएं आहत करने, व्यक्तिगत हमले और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से जुड़ा है।

बता दें कि 20 अक्टूबर को दीपिका राजावत ने महिला सुरक्षा को लेकर देवी दुर्गा को दिखाते हुए एक कार्टून ट्वीट किया था। जिसके कारण सोशल मीडिया पर उनका काफी विरोध हुआ था।

लोगों ने उन्हें गिरफ्तार किए जाने की भी मांग की। प्राथमिकी में उन पर जो आरोप लगाए गए हैं, वो गैर जमानती हैं।

वहीं इस मामले में दीपिका सिंह राजावत ने कहा कि यह कानून का सरासर दुरुपयोग है। भाजपा और अन्य भगवा संगठनों के दबाव में केस दर्ज किया गया है।

उन्होंने कहा कि यह ट्वीट महिलाओं की सुरक्षा के बारे में है। प्राथमिकी में उन पर उन अपराधों के आरोप लगाए गए हैं जो उन्होंने किए ही नहीं हैं।