पिता की हत्या के बाद इंसाफ के लिए CM से भी लगाई गुहार, हारकर काट ली हाथ की नस


किरण ने कई बार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलने का प्रयास किया लेकिन वे असफल रहीं। उन्होंंने ट्विटर पर अभिनेता सोनू सूद तक से मदद मांगी। अपने सुसाईड नोट में उन्होंने अपने खून से भी कुछ लिखा है। हालांकि अब किरण ठाकुर की स्थिति सामान्य बताई जा रही है।


देश गांव
बड़ी बात Updated On :

भोपाल। गोविंदपुरा क्षेत्र की एक युवती किरण राजपूत ने अपने हाथ की नस काट ली और अपना वीडियो बनाकर ट्विटर पर शेयर भी कर दिया।  युवती ने अपने पिता तरुण सिंह की हत्या के बाद इंसाफ न मिलने के कारण यह कदम उठाया है।

इस वीडियो में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को भी टैग किया गया है। किरण अपनी मां और भाई के साथ फुटपाथ पर खिलौने बेचती हैं। वे कई बार मुख्यमंत्री से मिलने का प्रयास कर चुकी हैं लेकिन असफल रहीं।

किरण राजपूत (वीडियो से ली गई तस्वीर)

किरण अपने पिता की हत्या के बाद इंसाफ न मिलने की बात कहती नजर आ रही है।  उनका अपना सुसाइड नोट भी साझा किया है। जिसमें उन्होंने अपने खून से भी कुछ लिखा है।

हालांकि किरण की हालत अब ठीक है और पुलिस ने उनके बयान दर्ज कर लिए हैं। इसके बाद फिर एक बार बयानों की राजनीति गरमा सकती है।

किरण को इंसाफ दिलाने के लिए सोशल मीडिया पर भी काफी लोग आगे आ रहे हैं। उपचुनावों में मतदान से ठीक पहले यह घटना प्रदेश की कानून व्यवस्था और  मुख्यमंत्री की आम लोगों से दूरी पर भी सवाल कर रही है।

जिस पर विपक्ष भी मुखर होता नजर आ रहा है। इस वीडियो को कांग्रेस पार्टी ने भी अपने ट्विटर अकाउंट से साझा किया है।

http://

युवती ने ट्विटर पर तीन पन्ने का सुसाइड नोट शेयर किया है, जिसमें उन्होंन लिखा है

मां मैं आपसे बहुत प्यार करती हूं. लेकिन मैं बहादुर बेटी नहीं बन सकी। मुझे माफ़ कर देना मां, मैं आपको न्याय नहीं दिला सकी। माफ़ी मांगते हुए किरण ने लिखा,”पापा, मुझे माफ़ कर दीजिए” उन्होंने कहा कि अंधा और बहरा प्रशासन उनकी सुनने को तैयार नहीं है और उनकी आत्महत्या का जिम्मेदार यही प्रशासन है।

दिलचस्प बात ये है कि किरण ने अपने लिए न केवल सोशल मीडिया पर  इंसाफ मांगा बल्कि फिल्म अभिनेता सोनू सूद से भी मदद मांगी थी। वह किसी भी तरह से अपनी बात मुख्यमंत्री, मीडिया और  जिम्मेदार अधिकारियों तक पहुंचाना चाहती थीं।

किरण की ट्विटर टाइमलाइन पर 29 अक्टूबर को पोस्ट किए गए एक अन्य वीडियो में वे कहती नजर आ रहीं हैं कि जब वे मुख्यमंत्री से मिलने उनके निवास पर पहुंची तो उन्हें मिलने नहीं दिया गया और जब उन्होंने वीडियो बनाने का प्रयास किया तो मोबाइल छीनकर वीडियो डिलीट कर दिया गया।

 

फुटपाथ पर खिलौने बेचता है किरण और उनका परिवार

किरण ने अप्रैल में भी एक वीडियो शेयर किया था जहां उन्होंने कहा था कि लॉक डाउन के दौरान 16 अप्रैल को उनके पिता को कई लोगों ने बुरी तरह पीटा था और कुछ दिन बाद उनकी मौत हो गई थी।

इस ट्वीट के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने किरण को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया था।

किरण की टाइमलाइन पर मौजूद एक अखबार की कटिंग

भोपाल के डीआईजी इरशाद वली ने इस वीडियो के सामने आने के बाद पत्रकारों को दी गई अपनी प्रतिक्रिया में बताया कि किरण के पिता की हत्या में बारह आरोपी पहले ही जेल में हैं।

मामले में गोविंदपुरा थाने के अशोक सिंह परिहार ने बताया कि इस बारे में खबर मिलने पर  इस किरण को उपचार के लिये तुरंत शहर के नर्मदा अस्पताल ले जाया गया। जहां उनके हाथ में पट्टी लगवाई गई। अब किरण की हालत  सामान्य है। रात को ही थाने में  उनके बयान लिए गए हैं।

 



Related