शिवराज के करीबियों पर आयकर का छापा, नये राजनीतिक समीकरण की आहट


विज़न फोर्स ही वह कंपनी है जिसको बीजेपी सरकार के समय हिंदी दिवस का करोड़ों का काम दिया गया था। विजन फ़ोर्स के प्रमुख संजय प्रकट ने बेहद कम समय में शिवराज की मदद से लगभग 3800 करोड़ का साम्राज्य खड़ा किया है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने जितने भी वर्चुअल भूमिपूजन/लोकार्पण किये थे उसके काम भी इसी संस्था के पास थे।


देश गांव
बड़ी बात Updated On :

भोपाल/रायपुर। मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में आज कई स्थानों पर एक साथ आयकर विभाग ने  छापेमारी की कार्यवाई की है। आज जिन संस्थानों/व्यापारियों को निशाना बनाया गया है उसमें सबसे मुख्य संस्थान विजन फोर्स है जिसके प्रमुख संजय प्रकट मुख्यमंत्री शिवराज के बेहद करीबी माने जाते हैं।

विज़न फोर्स ही वह कंपनी है जिसको बीजेपी सरकार के समय हिंदी दिवस का करोड़ों का काम दिया गया था। विजन फ़ोर्स के प्रमुख संजय प्रकट ने बेहद कम समय में शिवराज की मदद से लगभग 3800 करोड़ का साम्राज्य खड़ा किया है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने जितने भी वर्चुअल भूमिपूजन/लोकार्पण किये थे उसके काम भी इसी संस्था के पास थे।

राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा ज़ोरों पर है कि आज चल रही आयकर छापे की कार्यवाही बीजेपी की अंदरूनी लड़ाई और चुनावी लेनदेन के गोलमाल का नतीजा है जो अब बंद कमरे से निकलकर सड़क पर दिख रहा है।

जो भी हो पर छापे की टाइमिंग यह भी बता रही है कि बीजेपी के पास मध्यप्रदेश की सत्ता कुछ ही दिन और है, इसलिये उसे मतगणना का इंतज़ार भी लम्बा दिख रहा है।



Related