सिंधिया समर्थक सिलावट और राजपूत का इस्तीफा, जानिए क्या है कारण


सिलावट और राजपूत ने कांग्रेस और विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद 21 अप्रैल को भाजपा की सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली थी।


देश गांव
बड़ी बात Published On :
scindia supporter

भोपाल। सीएम शिवराज सिंह चौहान की सरकार के दो मंत्रियों तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। सीएम शिवराज ने उनके इस्तीफे राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को भेजे हैं।

सिलावट और राजपूत ने कांग्रेस और विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद 21 अप्रैल को भाजपा की सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली थी। दोनों मंत्री विधायक नहीं थे और उनको मंत्री बने 6 महीने पूरे होने जा रहे थे। इसके चलते उन्होंने खुद ही इस्तीफा दे दिया।

नियम के अनुसार, वे बिना विधायक बने 21 अक्टूबर तक ही मंत्री पद पर रह सकते थे। मंत्री पद जाने के साथ ही उन्हें मिलने वाली सभी सुविधाएं छिन गई हैं।

गोविंद सिंह राजपूत सुरखी और तुलसी सिलावट सांवेर से अपनी परंपरागत सीटों से उपचुनाव लड़ रहे हैं। सिंधिया के समर्थन में 10 मार्च को 22 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था, जिसके कारण कमलनाथ सरकार गिर गई थी और चौथी बार शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।

शिवराज ने 28 दिन बाद 21 अप्रैल को मंत्रिमंडल का गठन किया था, इसमें सिंधिया खेमे के तुलसीराम सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत को कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ दिलाई गई थी।



Related