8 साल के बच्चे की कुकर्म के बाद हत्या, पकड़े जाने के डर से आरोपी ने खुदकुशी की


परिजन और पुलिस के साथ तीन घंटे तक आरोपी बच्चे की खोजबीन में भी लगा रहा। सुबह होते ही घर से फरार हो गया और पेड़ पर फंदा डालकर खुदकुशी कर ली।


देश गांव
उज्जैन Published On :
ujjain murder case
बच्चे का शव मिलने के बाद परिवार में पसरा मातम


उज्जैन। शहर के नीलगंगा इलाके में एक नशेड़ी किरायेदार ने अपने मकान मालिक के 8 साल के बेटे को अगवा कर पहले उसके साथ दुष्कर्म किया और फिर करंट लगाकर बच्चे की हत्या कर दी।

परिजन और पुलिस के साथ तीन घंटे तक आरोपी बच्चे की खोजबीन में भी लगा रहा। सुबह होते ही घर से फरार हो गया और पेड़ पर फंदा डालकर खुदकुशी कर ली।

जानकारी के मुताबिक, न्यू इंदिरानगर निवासी दिव्यांग मुकेश प्रजापति का बेटा कान्हा उर्फ कृष्णा सोमवार शाम करीब 6 बजे के घर के आंगन में बच्चों के साथ गरबा खेल रहा था। किरायेदार सुनील (25 वर्ष) ने उसे बहाने से कमरे में बुलाया और नशे की हालत में दुष्कर्म के बाद उसका मुंह दबाया और पानी गर्म करने वाली बिजली के रॉड से करंट लगाकर बच्चे की हत्या कर दी। शव को बिस्तर में लपेटकर छिपा दिया। सुबह होते ही घर से फरार हो गया और पेड़ पर फंदा डालकर खुदकुशी कर ली।

एडिशनल एसपी अमरेंद्र सिंह चौहान और परिजन रातभर बच्चे को खोजते रहे। मंगलवार सुबह किरायेदार के कमरे से बच्चे का शव मिलते ही आईजी राकेश गुप्ता, डीआईजी मनीष कपूरिया, एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ला घटनास्थल पर पहुंचे। आईजी ने खुद आरोपी के कमरे की तलाशी ली। पानी गर्म करने की रॉड जब्त कराई। एफएसएल अधिकारी डॉ. प्रीति गायकवाड़ ने घटनास्थल से आरोपी के कपड़े जब्त किए। डीएनए के लिए सैंपल भी लिया गया।

एडिशनल एसपी अमरेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि

डॉक्टरों ने बालक के साथ दुष्कर्म की पुष्टि की है। ऐसा लग रह है कि आरोपी ने घटना के बाद ग्लानि के चलते आत्महत्या कर ली।

बताया जा रहा है कि आरोपी सुनील मिस्त्री का काम करता था। नशे की आदत के चलते ही घरवालों ने उसे निकाल दिया था। दो साल पहले वह न्यू इंदिरानगर में रहने वाले दिव्यांग मुकेश प्रजापति के यहां किराये से रहने के लिए आया था।

उसने मुकेश के परिवार से अच्छा मेल-जोल बढ़ा लिया। इसी कारण उनसे कान्हा घुलमिल गया था। बच्चा उसके कमरे पर भी खेलने चला जाता था। हत्या के बाद फरार सुनील ने मंगलवार को भैरवगढ़ इलाके में जाकर शराब पी। उसकी लोकेशन ट्रेस करते हुए साइबर सेल टीम वहां पहुंची।

यहां कुछ मजदूरों ने उसकी फोटो देखकर बताया कि वह अभी शराब पीकर गया है। मोबाइल लोकेशन की मदद से पुलिस दोपहर में अंबोदिया इलाके में पहुंची, जहां जंगल में पेड़ पर उसका शव फंदे पर लटका मिला।



Related