तीसरे दिन खत्म हुआ पहलवानों का धरना, खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के समझाने पर माने पहलवान


भारतीय ओलंपिक संघ की बैठक आज, रेसलर ने कहा कि वे कानून के हिसाब से चलेंगे


देश गांव
बड़ी बात Updated On :

नई दिल्ली। जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन कर रहे भारतीय रेसलर ने अपना विरोध प्रदर्शन शुक्रवार देर रात खत्म कर दिया। खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने इन खिलाड़ियों से बात करके उन्हें जांच समिति द्वारा आरोपों की जांच करने तक अपना प्रदर्शन रोकने के लिए मना लिया। इसके बाद अनुराग ठाकुर ने विरोध कर रहे इन खिलाड़ियों के साथ आकर प्रेस कांफ्रेंस की और इस बात की जानकारी दी।

खेल मंत्री से मीटिंग के बाद बजरंग पूनिया ने कहा कि इस कमेटी की रिपोर्ट आने तक हम जंतर-मंतर से धरना खत्म कर रहे हैं। हमें विश्वास है कि निष्पक्ष जांच होगी।

इससे पहले ओलंपिक संघ और खेल मंत्री की बैठक हुई और इसमें  जांच समिति बनाने का विचार किया गया और कुछ ही देर में जांच समिति के नाम तय कर दिए गए।

भारतीय ओलंपिक संघ ने WFI प्रमुख बृजभूषण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के लिए सात सदस्यीय समिति का गठन किया है। इस समिति में मैरी कॉम, डोला बनर्जी, अलकनंदा अशोक, योगेश्वर दत्त, सहदेव यादव और दो वकील शामिल हैं।

तीसरे दिन भी अपने तेवर बरकरार रखे और कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृज भूषण सिंह के इस्तीफे पर अड़े रहे। इस दौरान सकड़ों लोग इनके समर्थन में यहां पहुंचे। इनमें बॉक्सर विजेंदर सिंह भी थे। हालांकि उन्हें मंच पर न आने के लिए कहा गया।

रेसलर्स का समर्थन करने पहुंचे बॉक्सर विजेंदर सिंह

इस मामले में रेसलर खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से भी मुलाकात की है वहीं भारतीय ओलंपिक संघ की अध्यक्ष पीटी उषा को भी लिखा है। जिसके बाद ओलंपिक संघ की बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में खेल मंत्री भी भाग लेंगे।

प्रदर्शन का तीसरा दिन

वहीं शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए रेसलर विनेश फोगाट ने कहा कि “हम सभी मुद्दे रख रहे हैं। ये सिर्फ कुश्ती की बात होती तो क्या पता एक घंटे की बैठक में समाधान हो जाता। ये एक लड़की का नहीं बहुत सारी लड़कियों का मामला है। हम खुले तौर पर एक-एक का खुलासा नहीं कर सकते, इस तरह से उनके जीवन और परिवारों को खतरा होगा।”

इससे पहले रेसलर बजरंग पूनिया ने कहा कि “हमने अपनी मांगें सरकार के सामने रख दी हैं और उन्होंने आश्वासन दिया है कि सारी मांगें पूरी की जाएंगी। हमारी लड़ाई किसी राजनीतिक पार्टी से नहीं बल्कि हमारी लड़ाई संघ से है। हमें नहीं लगता कि इस मामले में इतना समय लगना चाहिए।”

इन रेसलर्स ने कहा आगे कहा कि “प्रधानमंत्री ने हमेशा खिलाड़ियों का मान, सम्मान और साथ दिया है। हम प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और खेल मंत्री से निवेदन करेंगे कि इस मामले में जल्द से जल्द हमारी मांगों को सुना जाए। WFI के अध्यक्ष ने इसमें राजनीतिक, जाति आदि मोड़ दिया है। प्रदर्शन में सारे खिलाडी हैं।”

यहां बजरंग पुनिया ने कहा कि “हम क़ानून का सहारा लेकर चलेंगे। अध्यक्ष जी ने कहा है कि उनके ख़िलाफ़ एक भी सबूत होगा तो वह फांसी लगा लेंगे, उम्मीद करते हैं कि यह भी बहुत जल्द होगा…हम बृजभूषण शरण सिंह के सामने आने का इंतजार कर रहे हैं लेकिन वह भाग रहे हैं। हम सब लोग अपना करियर दांव पर लगाकर आए हैं।”



Related