VIDEO: बैरिकेड तोड़ने जा रहे किसानों पर बरसाए गए आंसू गैस के गोले, मची अफ़रा-तफ़री


आंदोलन स्थल राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक आठ पर बैरिकेड तोड़ने के लिए आगे बढ़ रहे थे कि इसी दौरान ट्रैक्टर पर लगातार आठ-दस आंसू गैस के गोले दागे गए।


देश गांव
उनकी बात Updated On :

नई दिल्ली। सोमवार को किसानों और सरकार के बीच तीन कृषि कानूनों को लेकर बातचीत होनी है, लेकिन इसके पहले ही किसानों और केंद्र सरकार के बीच माहौल बिगड़ने लगा है। रविवार शाम को आंदोलन स्थल राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक आठ पर किसान उन्हें रोकने के लिए लगाए गए बैरिकेड तोड़ने के लिए आगे बढ़ रहे थे कि इसी दौरान ट्रैक्टर पर लगातार आठ-दस आंसू गैस के गोले दागे गए जिससे इलाके में अफ़रा-तफ़री मच गई। इसके बाद वहां क्या हालात हैं इसकी अभी ठीक-ठीक जानकारी नहीं मिली है।

ऐसी स्थिति में अब कहना मुश्किल है कि आगे किसानों और केंद्र सरकार की बातचीत का हल उम्मीद के मुताबिक सकारात्मक निकलेगा या नहीं क्योंकि बात अचानक बिगड़ चुकी है और किसानों के साथ सरकार ने वो किया है जिसकी फिलहाल किसी को भी उम्मीद नहीं थी।

मामले में किसान नेताओं की प्रतिक्रिया आनी अभी शेष है। किसानों के द्वारा बैरिकेड तोड़ना भी उनके लिए बातचीत में अपना पक्ष रखने में परेशानी बन सकता है, लेकिन आंदोलन में अब तक कई किसानों की मौत हो चुकी है और सुसाइड करने वाले कई किसानों ने मरने से पहले सुसाइड नोट में सरकार को आंदोलनरत किसानों की ओर से बेपरवाह करार दिया है। ऐसे में सरकार की छवि बिगड़ी है और किसान अपने साथियों की मौत से ख़ासे नाराज़ हैं।

 

उक्त वीडियो जनपथ के फेसबुक पेज से लिए गए हैं। इन्हें किसान आंदोलन कवर कर रहे युवा पत्रकार मनदीप पुनिया ने शूट किया है। 



Related