मंदसौर में कोतवाली टीआई को चाकू मारने वाले हमलावरों को शरण देने वालों के मकान जमींदोज

देश गांव
भोपाल Updated On :
mandsaur ti attacker house demolished

भोपाल/इंदौर। मंदसौर सिटी कोतवाली थाना प्रभारी अमित सोनी को चाकू मारने की घटना के बाद सोमवार सुबह पुलिस प्रशासन और राजस्व की टीम ने संयुक्त कर्रवाई की है।

इसके तहत आरोपियों को शरण देने वालोंं के 3 मकान और एक मकान का चबूतरा तोड़ा गया है। दरअसल, बीते दिनों दलोदा में एक व्यापारी के साथ लूट की घटना हुई थी। जिसमें उदयपुर के दो आरोपियों की तलाश की जा रही थी।

गुना में दिग्गी का सिंधिया व भाजपा पर हमला, बोले- कभी मुख्यमंत्री नहीं बनाएगी

नगरीय निकाय चुनाव प्रचार के अंतिम दिन पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह गुना पहुंचे। यहां उन्होंने गुना नगरपालिका के 37 वार्डों के कांग्रेस प्रत्याशियों के समर्थन में सभा ली। इस दौरान वे केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर काफी हमलावर नजर आए।

उन्होंने कहा कि उनके पिता स्वर्गीय माधवराव सिंधिया को संजय गांधी और अर्जुन सिंह के कहने पर वे कांग्रेस में लेकर आए। ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस ने सब कुछ दिया। उन्होंने उसी पार्टी से गद्दारी की। सिंधिया को बुरा लग जाता था कि दिग्विजय सिंह गुना में सभा क्यों लेते हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा उन्हें कभी मुख्यमंत्री नहीं बनाएगी। यह भाजपा का दोहरा मापदंड है। सिंधिया जी ने गद्दारी की, उनको मुख्यमंत्री पद नहीं मिला। एकनाथ शिंदे ने गद्दारी की, उन्हें मुख्यमंत्री बना दिया। बनाना था तो सिंधिया जी को मुख्यमंत्री बनाते और शिवराज सिंह को उपमुख्यमंत्री बना देते।

मुरैना में मतगणना कर्मी बेहोश, अस्पताल में कराया भर्ती –

मुरैना के शासकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज में सोमवार को मतगणना कर रहे सबलगढ़ के कर्मचारी मुकेश शाक्य अचानक बेहोश हो गए। गर्मी के कारण वे बेहोश होकर नीचे गिरे तो लोगों ने उन्हें उठाने का प्रयास किया लेकिन काफी देर तक उन्हें होश नहीं आया तो एंबुलेंस बुलाया गया।

बेहोशी की हालत में उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया है। मतगणना केंद्र पर तैनात कर्मचारियों ने बताया कि यहां सुबह से आए हुए हैं लेकिन खाने-पीने की कोई व्यवस्था है। मतगणना कर्मियों के लिए किसी भी तरह की सुविधा का ख्याल नहीं रखा गया है।

भोपाल में 25 साल की महिला का शव मिला, गले पर फंदे के निशान मिले – 

भोपाल के गांधीनगर इलाके में 25 साल की महिला का शव मिला है। शिनाख्त शबीना पति आसिफ के रूप हुई। महिला के गले पर फंदे के निशान मिले हैं।

पड़ोसियों ने पुलिस को बताया कि रात को शबीना और आसिफ के बीच झगड़ा हुआ था। सोमवार सुबह 10 बजे शबीना का शव घर से 100 मीटर दूर मिला।

पुलिस को अब तक आसिफ नहीं मिला है। पुलिस का कहना है कि यह हत्या है या आत्महत्या, इसका खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही हो पाएगा।

छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज में 50 घंटे से बंद है बिजली –

छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंसेज परिसर में करीब 50 घंटे से बिजली गुल होने के कारण हॉस्टल में रहने वाले छात्र और स्टाफ के परिवार परेशान होते रहे।

छात्रों ने बताया कि सोमवार सुबह उनकी परीक्षा थी, लेकिन 2 दिन से लाइट गुल होने की वजह से पढ़ भी नहीं पा रहे हैं। इसका खामियाजा उनके कैरियर पर पड़ेगा।

दरअसल छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंस यानी कि सिम्स मेडिकल कॉलेज में करीब 50 घंटे से बिजली गुल है जिसकी वजह से हॉस्टल में रहने वाले छात्र और परिसर में रहने वाला मेडिकल कॉलेज का स्टाफ परेशान है।

मेडिकल अधीक्षक डॉ. हेमंत अहिरवार ने बताया कि मेडिकल कॉलेज परिसर में दो ट्रांसफार्मर है। हमेशा प्रॉब्लम करते हैं जिसकी कई बार शिकायत भी की गई, लेकिन बिजली विभाग ने उस पर ध्यान नहीं दिया और आखिरकार दोनों पूरी तरीके से खराब हो गए जिसकी वजह से करीब 50 घंटे से बिजली गुल है।

देवास में अफेयर की सजा: पत्नी के कंधे पर बैठकर जुलूस निकाला –

मध्यप्रदेश के देवास में पत्नी के एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर पर पति ने हद पार कर दी। पहले तो उसे बहुत बुरी तरह पीटा, बाल खींचे, जमीन पर पटका, इसके बाद उसके कंधे पर बैठकर गांव भर में जुलूस निकाला। जूतों की माला भी पहनाई।

महिला अपने बॉयफ्रेंड के साथ रह रही थी। देवास पुलिस के एडिशनल एसपी सूर्यकांत शर्मा ने बताया कि पति समेत 11 लोगों पर एफआईआर की गई है। महिला के 3 बच्चे हैं।

घटना देवास जिले के पुंजापुरा के बोरपड़ाव गांव में एक दिन पहले की है। इसका वीडियो भी सामने आया है। बताया जा रहा है कि महिला एक हफ्ते पहले घर से लापता हो गई थी।

पति ने काफी ढूंढा लेकिन नहीं मिली तो उदयनगर थाने में गुमशुदगी दर्ज करा दी। रविवार को किसी से जानकारी मिली की पत्नी गांव में ही अपने प्रेमी के घर पर है।

पति और ससुराल के लोग उसे तलाशते हुए प्रेमी के घर पहुंचे। महिला पेटी में छिपी मिली। आरोपियों ने उसे बाहर निकाला और पूरे गांव के सामने पीटा। सिर्फ एक-दो लोगों को छोड़ दें तो ज्यादातर लोग तमाशबीन बने रहे।



Related