युवा दिवस पर युवाओं को रोज़गार और स्वरोजगार से जोड़ने की कोशिश, युवाओं से संवाद करेंगे सीएम शिवराज


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि सरकार अब पांच लाख युवाओं को स्वरोज़गार से जोड़ेगी।


देश गांव
भोपाल Updated On :

भोपाल। स्वामी विवेकानंद की जयंती को युवा दिवस के रुप में मनाया जाता है और अब इसे रोज़गार दिवस के रुप में भी मनाया जाएगा। पिछले दिनों प्रदेश में बेरोज़गारी की ख़बरों आने के बाद प्रदेश सरकार की खासी आलोचना हुई और अब सरकार इससे निकलना चाहती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि सरकार अब पांच लाख युवाओं को स्वरोज़गार से जोड़ेगी।

बुधवार को युवा दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने युवाओं कों अपना शरीर स्वस्थ्य रखने की नसीहत दी। उन्होंने अपने एक वीडियो संदेश में युवाओं को रोज़ सुबह सूर्य नमस्कार करने के लिए कहा। युवा दिवस के मौके पर प्रति वर्ष सूर्य नमस्कार का कार्यक्रम प्रदेश में सामुहिक तौर पर किया जाता है लेकिन इस बार कोरोना के कारण ऐसा आयोजन नहीं किया गया है।

युवा दिवस को रोज़गार दिवस की तरह मनाने के इस निर्णय की चर्चा लगातार हो रही है। दरअसल पिछले दिनों प्रदेश में ग्वालियर और शिवपुरी जिलों में कुछ पदो के लिए हज़ारों बेरोजगारों की लाइनें दिखाईं दीं। जहां छोटे पदों के लिए भी उच्चशिक्षित युवा आवेदन कर रहे थे। इन दृश्यों ने प्रदेश में बेरोजगारी की स्थिति को स्पष्ट तौर पर दिखाया और अब प्रदेश सरकार ने इसके लिए ये नए कदम उठाए हैं। उल्लेखनीय है कि मप्र में करीब 32 लाख बेरोजगार दर्ज हैं।

सरकार के सूक्ष्म, लघु एवं मद्यम उद्योग विभाग को रोज़गार-स्वरोजगार दिवस को सफल बनाने की ज़िम्मेदारी दी गई है। विभाग के सचिव पी. नरहरि के मुताबिक केंद्र एवं राज्य सरकार की बहुत से योजनाओं के माध्यम से लोगों को स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा। इन योजनाओं के तहत हितग्राहियों को ऋण राशि के स्वीकृति पत्र दिये जाएंगे। इसके अलावा मुख्यमंत्री उद्यम क्रांन्ति योजना के माध्यम से भी युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने की योजना है। इसके लिए जिला स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे।



Related