मांडू से खरगोन के तीन व दो स्‍थानीय संदिग्‍ध युवकों को पुलिस ने हिरासत में लिया, पूछताछ जारी


युवकों के नाम राज़िद रफीक इमलीपुरा खरगोन, इरफान कल्लू इमलीपुरा खरगोन, आसिफ हिदायत काजीपुरा खरगोन, अयान बहादुर मांडू और शाहिद भूरु निवासी मांडू है।


देश गांव
खरगोन Published On :
mandu youths detained

धार। धार जिले की मांडू पुलिस ने मांडू के एक मुस्लिम परिवार के घर से खरगोन के तीन युवकों के साथ परिवार के दो युवकों हिरासत में लिया है। हिंदू संगठन के लोग इस बात की सूचना मिलने के बाद बड़ी संख्या में मांडू पहुंचे।

खरगोन का एक युवक मौके पर मिला, जबकि चार अन्य युवक भनक लगने के बाद वहां से कहीं और चले गए थे। इन युवकों को ज्ञानपुरा और पनाला के पास से पकड़कर पुलिस पूछताछ के लिए थाने लाई है।

दूसरी तरफ हिंदू संगठन के लोगों का कहना है कि चारों युवकों को उन्होंने मांडू-धार मार्ग पर पकड़कर पुलिस के सुपुर्द किया है।

युवकों के नाम राज़िद रफीक इमलीपुरा खरगोन, इरफान कल्लू इमलीपुरा खरगोन, आसिफ हिदायत काजीपुरा खरगोन, अयान बहादुर मांडू और शाहिद भूरु निवासी मांडू है।

मांडू धार मार्ग पर वार्ड क्रमांक एक में स्थित भुरु लतीफ खान के घर से उक्त युवक मिले। स्वजनों का कहना है कि तीन में से दो युवक उनके सगे भांजे हैं, जो वाहन चालक हैं जबकि एक उनके भांजों का मित्र है। खरगोन में स्थिति तनावपूर्ण होने के कारण वे अपने मामा के घर समय गुजारने आए हैं।

इधर मांडू थाना प्रभारी बीएस वसुनिया ने बताया कि

सूचना मिलने पर एहतियात के तौर पर हमने खरगोन के तीन और मांडू के दो युवकों को पूछताछ के लिए थाने पर लेकर आए हैं। हमने इनके आधार कार्ड से इनके नाम और पते मैच किए हैं। हमने वरिष्ठ अधिकारियों को घटना की जानकारी देने के बाद खरगोन पुलिस को भी उक्त युवकों के आधार कार्ड और फोटो भेज दिए हैं। अगर खरगोन दंगे में उक्त युवकों का कनेक्शन होगा तो हम इन्हें खरगोन पुलिस के सुपुर्द कर देंगे। अन्यथा जो भी वैधानिक कार्यवाही होना चाहिए की जाएगी। फिलहाल हम युवकों से पूछताछ कर रहे हैं, मामले की जांच कर रहे हैं।

इधर इस मामले में हिंदू संगठन के लोग सक्रिय नजर आए। पुलिस को हिंदू संगठन के लोगों ने ही उक्त युवकों के विषय में जानकारी दी थी। मौके से फरार हुए चार युवकों को भी हिंदू संगठन के लोगों ने पकड़कर पुलिस के सुपुर्द किया।

हिंदू संगठन के लोगों ने मांडू थाने पहुंचकर पुलिस से चर्चा की और नारेबाजी भी की। हिंदू संगठन के लोगों का कहना है कि पड़ोसी जिला होने के कारण खरगोन दंगे से जुड़े बड़ी संख्या में आसपास के क्षेत्र में हैं। ऐसी हमारे पास सूचना है, पुलिस को सक्रियता के साथ इस विषय में ध्यान देना चाहिए।



Related