जिला पंचायत सदस्यों को लेकर हुई आरक्षण प्रक्रिया, एससी वर्ग के लिए 2 वार्ड आरक्षित


जिला पंचायत सभाकक्ष में जिपं वार्ड आरक्षण की प्रक्रिया पूर्ण की गई। इस दौरान फ्लीप पद्धति से पुराने आरक्षण के आधार पर महिला आरक्षण किया गया।


आशीष यादव आशीष यादव
धार Published On :
dhar panchayat chunav

धार। जिला पंचायत सभाकक्ष में कलेक्टर, जिपं सीईओ केएल मीणा और एडीएम शृंगार श्रीवास्तव की मौजूदगी में जिपं वार्ड आरक्षण की प्रक्रिया पूर्ण की गई। इस दौरान फ्लीप पद्धति से पुराने आरक्षण के आधार पर महिला आरक्षण किया गया।

करीब 50 प्रतिशत सीटें महिलाओं के लिए अलग-अलग वर्ग में आरक्षित की गई हैं। कलेक्टर ने बताया कि जिले में 12 विकासखंड अधिसूचित हैं। वहीं 1 विकासखंड बदनावर गैर अधिसूचित है।

जनसंख्या के तहत करीब 18 लाख 930 की आबादी है। इसमें 10 लाख 9387 एसटी वर्ग से हैं। वहीं 1 लाख 26 हजार 22 एससी वर्ग से हैं।

जनसंख्या अनुपात के आधार पर दो वार्ड एससी वर्ग के लिए आरक्षित किए गए हैं। वहीं 18 वार्ड एसटी वर्ग के लिए आरक्षित किए गए हैं। 20 वार्डों के आरक्षण के पश्चात 8 वार्ड अनारक्षित की श्रेणी में रखे गए हैं।

जिला पंचायत वार्ड आरक्षण में एससी वर्ग के लिए वार्ड क्रमांक 2 और वार्ड 9 को आरक्षित किया गया है। इसमें वार्ड 2 पर महिला आरक्षण है। वहीं वार्ड 9 मुक्त रहेगा। यहां भी मुक्त वार्ड में एससी वर्ग से महिला-पुरुष दोनों में कोई भी चुनाव लड़ सकत है।

अनारक्षित 8 वार्ड सबके लिए फ्री

जिला पंचायत वार्ड आरक्षण में 20 वार्ड एसटी-एससी वर्ग के लिए आरक्षित होने के बाद सामान्य वर्ग के लोगों के लिए 8 वार्डों से निर्वाचित होकर जिपं सदस्य बनने की उम्मीदें रहेगी।

इन वार्डों में ओबीसी वर्ग भी अपने लिए राजनैतिक जमीन बचाए रखने के लिए प्रयास कर सकता है। अनारक्षित इन वार्डों में सामान्य ओबीसी के अतिरिक्त दूसरे समुदाय के लोग भी चुनाव लड़ सकते हैं।

इसमें जिपं के 4 वार्ड सरदारपुर का क्रमांक 6, बदनावर का वार्ड 3, धरमपुरी का वार्ड 27 और धार का वार्ड क्रमांक 10 महिलाओं के लिए आरक्षित रखा गया है।

इसके अलावा अनारक्षित जिसे मुक्त वार्ड भी संबोधित किया जा रहा है उसमें मनावर का वार्ड क्रमांक 23, बदनावर का वार्ड क्रमांक 4, नालछा का वार्ड क्रमांक 14 व निसरपुर के वार्ड क्रमांक 20 शामिल है।