हां, मैं कुत्ता हूँ… जनता का कुत्ता: सिंधिया


सिंधिया बोले- कमलनाथ जी, सुन लीजिए। हां, मैं कुत्ता हूं, क्योंकि मेरा मालिक मेरी जनता है, जिसकी मैं सेवा करता हूं। कुत्ता अपने मालिक और अपने दाता की रक्षा करता है। हां, कमलनाथ जी मैं कुत्ता हूं, कोई भी व्यक्ति मेरे मालिक के साथ भ्रष्टाचार करेगा और उसे अंगुली दिखाएगा, तो कुत्ता उसे काटेगा।


देश गांव
ग्वालियर Updated On :

मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस और बीजेपी के बीच जो शब्दों की मर्यादा ने जिस सीमा को तोड़ दिया था वह अब शिखर पर पहुंच चुका है। शनिवार को राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अशोकनगर के शाढौरा में भाजपा प्रत्याशी जजपाल सिंह जज्जी के समर्थन में जनसभा की। सिंधिया ने कहा, ‘कमलनाथ जी यहां आते हैं और कहते हैं कि मैं कुत्ता हूं।’

 

सिंधिया बोले- कमलनाथ जी, सुन लीजिए। हां, मैं कुत्ता हूं, क्योंकि मेरा मालिक मेरी जनता है, जिसकी मैं सेवा करता हूं। कुत्ता अपने मालिक और अपने दाता की रक्षा करता है। हां, कमलनाथ जी मैं कुत्ता हूं, कोई भी व्यक्ति मेरे मालिक के साथ भ्रष्टाचार करेगा और उसे अंगुली दिखाएगा, तो कुत्ता उसे काटेगा।

सिंधिया ने आगे कहा कि 15 महीने तक कमल नाथ जी को जनता की याद नहीं आई, वल्लभ भवन में बैठ  कर वे अपनी जेब भरते रहें, आज जब उनकी सरकार सड़क पर आ गयी तो जनता से वोट मांगने आ गये।

चुनाव प्रचार के अंतिम दौर में प्रदेश में आरोप-प्रत्यारोप अपने चरम पर पहुंच चुका है।

दरअसल, शुक्रवार को अशोकनगर में आयोजित सभा में कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने अपने भाषण में कुत्ते का जिक्र किया था। कृष्णम ने कहा था कि जिस तरह से एक पिल्ले की रक्षा के लिए कुत्ता आगे आ जाता है, उसी तरह से यहां के विधायक को कार्रवाई से बचाने के लिए कुत्ता आ गया था। इस सभा के मंच पर कमलनाथ भी उपस्थित थे।

 



Related