महत्वाकांक्षा का परिणाम हैं ये उपचुनाव! मुकुल वासनिक के निशाने पर सिंधिया


वासनिक ने इशारों में सिंधिया पर हमला किया और कहा कि 2018 में चुनाव परिणाम के बाद लोग खुद को प्रदेश के शीर्ष नेतृत्व के रूप में देखना चाहते थे, लेकिन कांग्रेस के 80 फीसद विधायकों ने इसके लिए कमलनाथ को चुना


देश गांव
इन्दौर Updated On :
Photo Credit: Patrika


भोपाल। प्रदेश में हो रहे उपचुनाव केवल ज्योतिरादित्य सिंधिया की महत्वकांक्षा का परिणाम हैं और इससे ज्यादा कुछ नहीं। यह बात मध्य प्रदेश के प्रभारी और वरिष्ठ कांग्रेस नेता मुकुल वासनिक ने सिंधिया का नाम लिए बिना कही। शनिवार को वे इंदौर में थे।

वासनिक ने चुनाव आयोग के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ़ लिए गए फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया।  उन्होंने कहा कि आने वाली 10 तारीख को जब वोटों की गिनती होगी तब ऐसे गद्दारों को उनके कारनामों का जवाब भी मिल जाएगा।

वासनिक ने फिर इशारों में सिंधिया पर हमला किया और कहा कि 2018 में चुनाव परिणाम के बाद लोग खुद को प्रदेश के शीर्ष नेतृत्व के रूप में देखना चाहते थे, लेकिन कांग्रेस के 80 फीसद विधायकों ने इसके लिए  कमलनाथ को चुना और यही वजह रही कि उनका असंतोष बढ़ता रहा।

उन्होंने आरोप लगाया कि मतदाता ने कांग्रेस के हक में जनादेश दिया था, लेकिन कुछ लोग व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा के कारण बहुत परेशान थे, जिन्होंने ना सिर्फ कांग्रेस से गद्दारी की बल्कि जनादेश के खिलाफ जाकर इस प्रदेश की जनता के साथ भी गद्दारी की है।

वासनिक इससे पहले भी सिंधिया के खिलाफ़ तीखे़ बयान दे चुके हैं। बीते हफ़्ते उन्होंने कहा था कि सिंधिया ने कांग्रेस के साथ बड़ा धोख़ा किया है और उनके जीते-जी वे पार्टी में कभी वापस लौट कर नहीं आ सकेंगे।