हादसाः बेटे का सेहरा लेकर फूट-फूट कर रोते रहे पिता, खंडवा की घटना में छह की मौत तीस घायल


जानकारी के मुताबिक बारात सुबह साढ़े आठ बजे मौजवाड़ी गांव से मेहलू गांव के लिए दो ट्रैक्टरों में चली थी। इसी बीच मेहलू गांव के पास ही करीब चालीस बारातियों से भरी ट्रैक्टर ट्राली पलट गई। घटना सुबह करीब 11 बजे  हुई। जब बिना रेलिंग की पुलिया को ट्रैक्टर चालक  तेज गति से निकाल रहा था। इसी दौरान संतुलन बिगड़ा और ट्राली पलटकर पुलिया के नीचे गिर गई। इस हादसे में मौके पर कुछ लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। 


देश गांव
इन्दौर Updated On :
हादसे के बाद अस्पताल में पहुंचे दूल्हे के पिता, उनके हाथ में मृत बेटे का सेहरा था और फूट-फूट कर रो रहे थे।


इंदौर। खंडवा-बैतूल हाईवे पर गुरुवार को एक दर्दनाक हादसा हो गया और एक साथ कई परिवारों की खुशियां जैसे पूरी तरह खत्म हो गईं। इनमें एक परिवार ऐसा भी था जिसने अपने बेटे की शादी के लिए ढ़ेरों अरमान सजाए थे लेकिन इस हादसे ने बेटा ही छीन लिया और पिता मृत बेटे का सहरा लेकर रोते- बिलख़ते रहे। यह बारात मौजवाड़ी से मेहलू गांव जा रही थी लेकिन पांच किमी पहले ही यह हादसा हो गया।

खंडवा हादसे की तस्वीरें

जानकारी के मुताबिक बारात सुबह साढ़े आठ बजे मौजवाड़ी गांव से मेहलू गांव के लिए दो ट्रैक्टरों में चली थी। इसी बीच मेहलू गांव के पास ही करीब चालीस बारातियों से भरी ट्रैक्टर ट्राली पलट गई। घटना सुबह करीब 11 बजे  हुई। जब बिना रेलिंग की पुलिया को ट्रैक्टर चालक  तेज गति से निकाल रहा था। इसी दौरान संतुलन बिगड़ा और ट्राली पलटकर पुलिया के नीचे गिर गई। इस हादसे में मौके पर कुछ लोगों की दर्दनाक मौत हो गई।

हादसे में दूल्हे कुंवर सिंह सुखराम की भी मौत हो गई है। उनके अलावा भगवती बाई सालकराम, सूरज बाई गोविंद, बुधिया बाई भागीरथ, तुलसा बाई हीरा सभी निवासी मौजवाड़ी तथा गोपीबाई मंसाराम निवासी प्रतापपुरा की भी मौत हो गई हैं। हादसे में तीस लोग घायल हुए हैं। मृतकों को पंचायत की ओर से छह-छह हजार रुपए की राहत राशि दी गई है। घायलों को खालवा के अस्पताल में भर्ती किया गया। जहां उनका इलाज जारी है।

हादसे के बाद अस्पताल में पहुंचे दूल्हे के पिता, उनके हाथ में मृत बेटे का सेहरा था और फूट-फूट कर रो रहे थे।

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह ने मौके पर पहुंच गए। अस्पताल में मृतकों के रिश्तेदारों की चीत्कार सुनाई दे रहीं थी। इस दौरान दूल्हे के पिता अपने मृतक बेटे का सेहरा हाथ में लेकर फूट-फूट कर रो रहे थे। यह दृश्य देखकर सभी की आंखें नम हो गईं।

 



Related