जैन संत आचार्य ऋषभचन्द्र सूरीश्वरजी का निधन, मोहनखेड़ा तीर्थ में शुक्रवार सुबह अंतिम संस्कार


आचार्य श्री का अंतिम संस्कार कार्यकम अब गुरुवार शाम 5 बजे की बजाय शुक्रवार 4 जून की सुबह को किया जाएगा। बता दें कि 4 जून को ही आचार्य श्री का 63वां जन्मदिन है।


देश गांव
इन्दौर Updated On :
acharya-rishabchandra-surishwar-ji-death

राजगढ़/धार/इंदौर। जैन संत, मोहनखेड़ा तीर्थ विकास प्रेरक आचार्य ऋषभचंद्र सूरीश्वरजी का बुधवार-गुरुवार की दरमियानी रात करीब 2.50 बजे इंदौर के मोहक अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया। 62 वर्षीय जैन संत कोरोना संक्रमित थे और पिछले छह दिन से उनका मोहक अस्पताल में इलाज चल रहा था।

20 मई को उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, जिसके पश्चात उनका इलाज मोहनखेड़ा में ही चल रहा था। छह दिन पहले उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल लाया गया। साइटो काइंड स्टॉर्म के कारण उनके फेफड़ों में 80 प्रतिशत तक संक्रमण हो चुका था।

अस्पताल में आने के बाद उन्हें आईसीयू में बाइपेप पर रखा गयाऔर इसके एक दिन बाद ही उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया। इलाज के दौरान उन्हें एंटीबॉडी, प्लाज्मा, रेमडेसिविर व टॉसलीजुबैम इंजेक्शन भी दिया गया।

जैन संत को डीआरडीओ द्वारा तैयार किया गया 2डीजी पाउडर और अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा उपयोग किया गया कॉकटेल इंजेक्शन भी दिया गया था, लेकिन फिर भी वे बच नहीं सके।

श्री आदिनाथ राजेंद्र जैन ट्रस्ट मोहन खेड़ा ने गुरुवार की सवेरे छह बजे के करीब निधन की आधिकारिक घोषणा की। ट्रस्ट के मैनेजिंग ट्रस्टी सुजान मल जैन एवं त्रिस्तुति जैन श्री संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंपालाल वर्धन ने बताया की आचार्य श्री का अंतिम संस्कार मोहनखेड़ा तीर्थ पर किया जाएगा।

आचार्य श्री का अंतिम संस्कार कार्यकम अब गुरुवार शाम 5 बजे की बजाय शुक्रवार 4 जून की सुबह को किया जाएगा। बता दें कि 4 जून को ही आचार्य श्री का 63वां जन्मदिन है।

ट्रस्ट मैनेजिंग ट्रस्टी सुजान मल सेठ ने बताया कि कोविड नियमानुसार सभी गुरु भक्त अपने-अपने घरों से श्रद्धा सुमन अर्पित करें।



Related