सरकार का लक्ष्य है कि प्रदेश के हर नागरिक को न्याय व उसका अधिकार मिले- सीएम चौहान


भूमाफियाओं से पीड़ित प्लॉट धारकों ने न्याय और हक मिलने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का किया सम्मान और जताया आभार।


देश गांव
इन्दौर Updated On :
cm-in-indore

इंदौर। इंदौर में भूमाफियाओं के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के बाद भूमाफियाओं से पीड़ित प्लॉट धारकों ने अपने प्लॉट का कब्जा मिलने पर मंगलवार को इंदौर में आयोजित एक विशाल कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का सम्मान करते हुए उनके प्रति आभार जताया।

मुख्यमंत्री का विभिन्न रहवासी संघों ने शॉल, श्रीफल तथा प्रशस्ति पत्र से सम्मान किया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, सांसद शंकर लालवानी, विधायक महेन्द्र हार्डिया, रमेश मेंदोला, मालिनी गौड़ तथा आकाश विजयवर्गीय, पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता तथा राजेश सोनकर विशेष रूप से मौजूद थे।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने सम्मान के प्रत्युत्तर में कहा कि मुझे आभार एवं स्वागत की जरूरत नहीं है। नागरिकों की खुशी, मुस्कुराहट एवं उनके चेहरे की चमक ही मेरा स्वागत है। मैं जनता का सेवक हूं। मैं आपको न्याय दिलाने के लिये हूं। मुझे जनता का आनंद एवं संतोष चाहिये। मैं जनप्रतिनिधियों का आभारी हूं कि उन्होंने मुझे वास्तविक समस्याओं से अवगत कराया, जिससे कि मैं पीड़ितों को उनका हक एवं न्याय दिलवा सका हूं।

उन्होंने कहा कि मेरा लक्ष्य है कि आम जनता को न्याय एवं अधिकार मिले। प्रदेश में किसी भी भू-माफिया को नहीं छोड़ा जायेगा। बेईमानों, बदमाशों, गुंडों को मध्यप्रदेश छोड़ देना चाहिये। जनता के साथ अत्याचार एवं अन्याय करने वालों को बख्शा नहीं जायेगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में हाल ही में धर्म स्वातंत्रय विधेयक पास हो गया है। बालिकाओं के साथ दुराचार एवं अनाचार करने वालों को इसके माध्यम से सख्त सजा मिलेगी। प्रदेश में सबको न्याय मिलेगा।

प्रदेश में अब अलग तरह का राज और सरकार का अलग तरह का अंदाज है। सबको न्याय मिलेगा। राजधर्म का पूरा पालन होगा। शासन एवं प्रशासन सज्जनों के लिये फूल के समान कोमल एवं दुष्टों के लिये वज्र से ज्यादा कठोर है।

चौहान ने भूमाफियाओं के खिलाफ इंदौर में कलेक्टर मनीष सिंह के निर्देशन में की गई कार्यवाही की सराहना करते हुए कहा कि यह प्रदेश ही नहीं देश के लिये मिसाल होगी। उन्होंने कलेक्टर सिंह को कहा कि वे अन्य अधिकारियों को भी अपना प्रजेंटेशन देवें।

उन्होंने कहा कि भूमाफियाओं के खिलाफ कार्यवाही करना हमारा फर्ज है। सभी को प्लॉट का कब्जा दिलवाने एवं उनको मकान बनवाने में प्रशासन द्वारा पूरी मदद की जायेगी।

जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कहा कि मुख्यमंत्री ने तीन दशक के पीड़ितों को न्याय दिलवाया है। पीड़ितों की वर्षों की तपस्या आज लंबे समय बाद शासन की दृढ़ इच्छा शक्ति से सफल हुयी है। प्रदेश में राज्य सरकार का संकल्प है कि हर आवासहीन का अपना घर होगा। भू-माफियाओं के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जायेगी।

सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिला प्रशासन ने जिस तत्परता से कठोर कार्रवाई की, वह सराहनीय है। यह मुहिम हर पीड़ित को उनका हक दिलाने तक जारी रहेगी। हर पीड़ित को प्लॉट मिले, इसका पूरा प्रयास किया जायेगा।

विधायक महेन्द्र हार्डिया ने कहा कि गृह निर्माण सहकारी संस्थाओं के सदस्यों को न्याय दिलाना बहुत बड़ी चुनौती थी। समस्या जटिल थी। दृढ़ इच्छाशक्ति से प्लॉट धारकों को न्याय दिलवाया गया। नागरिकों के साथ धोखाधड़ी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाना चाहिये। रिंग रोड के आसपास की कॉलोनियों का तेज गति से विकास किया जायेगा।

कार्यक्रम में पुष्प विहार कॉलोनी के प्लॉटधारकों की ओर से आभार जताते हुए नंदकिशोर मिश्रा ने कहा कि शब्दों में खुशी बंया नहीं की जा सकती है। हमें कल्पना से ज्यादा मिल गया। बहुत बड़ी पीड़ा से मुक्ति मिली है। मुख्यमंत्री महान है। असंभव को संभव कर दिखाया। हमने 30 से 35 साल तक बड़ा संघर्ष किया, दर-दर चक्कर लगाये, कोई बात करने को तैयार नहीं था। अब शासन–प्रशासन हमारे द्वार पर आकर समस्या हल कर रही है। पहले हम असुरक्षित थे, अब माफिया असुरक्षित है। मुख्यमंत्री ने माफियाओं का जाल तोड़ दिया है। लगता है अब राम राज्य आ गया है। हम पीड़ितों को न्याय मिला है। प्रशासन ने अतुलनीय सहयोग दिया है। इंदौर में भू-माफियाओं के खिलाफ की गयी कार्रवाई देश के लिये उदाहरण है। इंदौर में हो रही कार्रवाई इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखी जायेगी।

इसी तरह महालक्ष्मी नगर के पीड़ितों की ओर से आभार जताते हुए अरूण सक्सेना ने कहा कि हमारी 35 वर्ष पुरानी समस्या थी। युवा अवस्था में कई लोग सदस्य बने थे, वह अब बुजुर्ग हो गये, कुछ तो अब इस दुनिया में ही नहीं है। हमें बहुत दुख: होता था। हमारा हक पाने के लिये बहुत परेशानी उठाना पड़ी। जब हम पूरी तरह से निराश हो गये थे, ऐसे वक्त में मुख्यमंत्री के निर्देश पर भूमाफियाओं के विरूद्ध शुरू हुए अभियान से आशा की नई किरण दिखायी दी। अब न्याय और हमारा हक मिलने से हमारे बुझे हुये जीवन में नयी रोशनी आ रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त करने के लिये शब्द नहीं है।

अयोध्यापुरी कॉलोनी रहवासी संघ की ओर से आभार व्यक्त करते हुये गौरीशंकर लाखोटिया ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में जिला प्रशासन ने भू-माफियाओं के विरूद्ध बड़ी एवं कड़ी कार्रवाई की है। शासन एवं प्रशासन की कार्रवाई से वर्षों से भटक रहे तीन सौ परिवारों के घरों का सपना साकार होना बहुत बड़ी उपलब्धि है।

दीपकुंज कॉलोनी की ओर से अभार व्यक्त करते हुये प्रदीप शर्मा ने कहा कि 30 वर्ष से न्याय प्राप्त करने के लिये संघर्ष कर रहे थे। अब जाकर हमें न्याय मिला। कॉलोनी में तेज गति से विकास हो रहा है। अब हमारे घर का सपना साकार हो रहा है। दीपकुंज कॉलोनी को शहर की सबसे सुन्दर कॉलोनी बनाई जायेगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कार्यक्रम में महालक्ष्मी नगर कॉलोनी में वर्षों से प्लॉट की आस में बुजुर्ग और दिव्यांग हो गई वृद्धा अनिता डफाल के पास पहुंचकर चर्चा की। इस बुजुर्ग महिला को मुख्यमंत्री ने ढांढस बंधाया और विश्वास दिलाया कि उसका हक हर हाल में उसे दिलवाया जायेगा। उन्होंने कहा कि वे निराश नहीं हो, शासन-प्रशासन द्वारा पूरी मदद दी जायेगी।