वसीम रिजवी के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग को लेकर आईजी से मिला मुस्लिम संगठन का प्रतिनिधिमंडल


इंदौर में मुस्लिम समाज के प्रतिनिधिमंडल ने पाक कुरान और मुस्लिम धर्म के लिए गलत बयानबाजी को लेकर विरोध जताया है और इंदौर आईजी हरिनारायणचारी मिश्र को ज्ञापन सौंपा।


देश गांव
इन्दौर Published On :
indore-ig-and-muslim-leaders

इंदौर। शिया वफ्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष सैय्यद वसीम रिजवी के खिलाफ देशभर में मुस्लिम संगठन लामबंद हो गए हैं। इंदौर में भी वसीम रिजवी का खासा विरोध किया जा रहा है।

इंदौर में भी मुस्लिम संगठनों द्वारा लगातार प्रदर्शन और ज्ञापन के माध्यम से रिजवी के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करने की मांग की जा रही है। इसी कड़ी में इंदौर में मुस्लिम समाज के प्रतिनिधिमंडल ने पाक कुरान और मुस्लिम धर्म के लिए गलत बयानबाजी को लेकर विरोध जताया है और इंदौर आईजी हरिनारायणचारी मिश्र को ज्ञापन सौंपा।

बता दें कि मूल रूप से लखनऊ उत्तरप्रदेश के रहने वाले वसीम रिजवी पर आरोप लग रहा है कि उनके द्वारा करोड़ों मुस्लिमों की धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने के लिए पवित्र धर्मग्रंथ कुरान शरीफ को अपमानित किया गया है।

इसके बाद से ही रिजवी के खिलाफ मुस्लिम समुदाय लामबंद हैं और हर कोई चाहता है कि वसीम रिजवी को कड़ी कानूनी सजा मिले।

रजा एकेडमी इंदौर के जैद पठान ने शिकायती पत्र में लिखा है कि कुरान शरीफ पवित्र धर्मग्रंथ है जिसे पूरी दुनिया मे अरबों मुसलमानों द्वारा पढ़ा जाता है और इस्लाम धर्म को मानने वाला कुरान शरीफ को अपनी जान से ज्यादा प्यार करता है।

ऐसे में धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाकर सामाजिक उन्माद फैलाने वाले वसीम रिजवी पर सक्षम धाराओं के तहत केस दर्ज किया जाए। नूर अलख नूरी, मुफ़्ती ए मालवा इंदौर ने बताया कि वसीम रिजवी पहले भी इसी तरह की हरकत कर चुका है और उसे उस समय ही गिरफ्तार कर लिया जाता तो वो वर्तमान के पवित्र कुरान की आयतों को लेकर अपमानजनक टिप्पणियां नहीं करता।

उन्होंने बताया कि रिजवी का परिवार उसे पागल कहता है और पुलिस को उस पर सख्त कार्रवाई करनी चाहिये। वहीं इंदौर आईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने बताया कि ज्ञापन के आधार पर मामले में वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।