मुस्लिम समाजजनों ने महंत के ख़िलाफ़ डीआईजी को दिया ज्ञापन


ज्ञापन में मुस्लिम समाज के प्रमुखों ने मांग की है कि पैगम्बर हजरत मुहम्मद के बारे में महंत नरसिंहानंद द्वारा की गई टिप्पणी के बाद उन पर कार्रवाई होनी चाहिए।


DeshGaon
इन्दौर Published On :

इंदौर। विवादित बयान देकर सुर्खियां बंटोरने वाले महंत यति नरसिंहानंद के ताजा बयान को लेकर विवाद गहराता ही जा रहा है। जहां एक दिन पहले हिंदू युवा अधिवक्ता ज्वलंत सिंह चौहान ने इंदौर पुलिस के आला अधिकारियों से महंत नरसिंहानंद के खिलाफ़ एफआईआर दर्ज करने की मांग की थी वहीं अब अंजुमन इस्लाहुल मुस्लेमीन जामा मस्जिद की अगुआई मुस्लिम समुदाय के वरिष्ठ नागरिकों ने भी लामबंद होकर डासना मंदिर के पुजारी महंत नरसिंहानंद के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग पुलिस से की है।

दरअसल, हाल ही में महंत यति नरसिंहानंद ने एक पत्रकार वार्ता के दौरान एक बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी की। जिसे लेकर मुस्लिम समाज में नाराज़गी है। बुधवार को शहर काजी डॉ. इशरत अली, मुफ़्ती ए मालवा मुफ़्ती मुहम्मद नुरुल हक, अल्लाम अहमद मिया अजहरी जामा मस्जिद इंदौर, सुन्नी अईम्मा काउंसिल के मौलाना आरिफ बरकाती, दारुल उलूम बरकाते सादात मुफ़्ती साबिर अली मिस्बाही, सदर अंजुमन इस्लाहुल मुस्लिमीन के हाजी अब्दुल हक और सेकेट्री अंजुमन इस्लाहुल मुस्लिमीन मोहम्मद मोइनुद्दीन रिजवी सहित समाजजनों ने आईजी हरिनारायणचारि मिश्र से मुलाकात की और उन्हें ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में मुस्लिम समाज के प्रमुखों ने मांग की है कि पैगम्बर हजरत मुहम्मद के बारे में महंत नरसिंहानंद द्वारा की गई टिप्पणी के बाद उन पर कार्रवाई होनी चाहिए। उनके इस बयान के कारण मुस्लिम समाज की धार्मिक भावनाएं आहत हो रही हैं। जो नफरत फैलाने का काम कर रहे है। ऐसे में समाजजनों ने इंदौर आईजी से अंजुमन इस्लाहुल मुस्लिमीन के बैनर तले नफ़रत फैलाने वाले महंत के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग ज्ञापन के जरिये की। इसके अलावा महंत नरसिंहानंद के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई कर गिरफ्तारी की मांग भी की।



Related






ताज़ा खबरें