इंदौर का सियागंज बाजार कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करने की वजह से अगले आदेश तक बंद


प्रशासन के सामने ये बात आई कि यहां कोविड नियमों को धता बताकर सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क जैसे जरूरी नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। लिहाजा, एसडीएम सहित निगम व प्रशासन की टीम ने सोमवार को बाजार बंद करा दिया।


देश गांव
इन्दौर Published On :
indore-siaganj-close

इंदौर। मध्यप्रदेश की सबसे बड़ी थोक किराना मंडी सियागंज बाजार पर सोमवार को प्रशासन ने नकेल कसते हुए उसे अगले आदेश तक के लिए बंद करा दिया है।

इंदौर के सियागंज थोक बाजार से ही समूचे इंदौर को किराना वस्तुएं उपलब्ध कराई जाती हैं। यहां इंदौर ही नहीं बल्कि अन्य जिलों से भी लोग खरीदी के लिए आते हैं।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण बाजार का समय इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह के आदेश के मुताबिक 12 बजे तक किया गया था जिसके बाद से ही इसी व्यवस्था के तहत बाजार खुल रहा था और बंद किया जा रहा था।

इधर, इंदौर में बढ़ते कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन द्वारा लगातार भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में कार्रवाई को अंजाम दिया जा रहा है।

इसी कड़ी में सियागंज थोक बाजार का जब दौरा किया गया तो प्रशासन के सामने ये बात आई कि यहां कोविड नियमों को धता बताकर सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क जैसे जरूरी नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है।

लिहाजा, एसडीएम सहित निगम व प्रशासन की टीम ने सोमवार को बाजार बंद करा दिया। प्रशासनिक अधिकारियों के मुताबिक, आगामी आदेश तक सियांगज थोक बाजार बंद रहेगा।

जानकारी के मुताबिक, राशन की थोक दुकानों को मिली छूट का मखौल उड़ाकर व्यापारियों और खरीददारों द्वारा मनमानी की जा रही थी। लिहाजा, सोमवार को एसडीएम द्वारा पूरे बाजार को तुरंत बंद कराने के आदेश दिए गए।

इधर, बाजार के इस तरह गुलजार होने से कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। लिहाजा, इस बात की संभावना बनी हुई है कि जिला प्रशासन बाजार के खुलने और बंद होने के समय में फेरबदल कर सकता है जिसके आदेश सोमवार शाम तक जारी हो सकते हैं।

वहीं प्रशासन मंगलवार से जनता कर्फ्यू का और भी कड़ाई से पालन करायेगा ताकि कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सके।



Related