मंत्री उषा ठाकुर ने लिया महाकाल नगरी के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट्स का जायज़ा


मंत्री उषा ठाकुर ने यहां के सबसे बड़े प्रोजेक्ट महाकाल-रूद्रसागर एकीकृत विकास एवं सुंदरीकरण परियोजना (मृदा) के तहत हो रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। मंत्री ने सभी निर्माण कार्यों को समय पर पूरा करने के निर्देश दिए हैं।


देश गांव
उज्जैन Published On :

उज्जैन। पर्यटन, अध्यात्म विभाग और संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर शनिवार को उज्जैन पहुंची। उन्होंने यहां उज्जैन स्मार्ट सिटी  के ज़रूरी प्रोजेक्ट्स का जायज़ा लिया। इस दौरान कलेक्टर आशीष सिंह भी उनके साथ मौजूद रहे और उन्हें शहर में चल रहे सभी प्रोजेक्ट्स के बारे में लगातार जानकारी देते रहे। मंत्री ने अधिकारियों से निर्माण कार्यों को पूरी जिम्मेदारी से पूरा करने की हिदायत दी।

मंत्री उषा ठाकुर ने यहां के सबसे बड़े प्रोजेक्ट महाकाल-रूद्रसागर एकीकृत विकास एवं सुंदरीकरण परियोजना (मृदा) के तहत हो रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। मंत्री ने सभी निर्माण कार्यों को समय पर पूरा करने के निर्देश दिए हैं।

97 करोड़ रुपये के इस मृदा प्रोजेक्ट के तहत कई कार्य कराए जा रहे हैं। इनमें मंदिर का नया प्रवेश द्वार, 900 मीटर लंबा कॉरिडोर, पूजन-सामग्री, शृंगार और खान-पान के लिए व्यवस्थित दुकानें बनाई जा रहीं हैं। इसके अलावा कॉरिडोर और उसके पास 200 विशाल शिवमहापुराण में वर्णित प्रतिमाएं स्थापित की जा रही हैं। यह प्रोजेक्ट जून तक पूरा होना है।

कॉरिडोर में प्रत्येक 10 मीटर की दूरी पर मंदिर कला आधारित स्मार्ट स्तंभ बनाए जा रहे हैं। इन पर एलईडी लाईट, सीसीटीवी कैमरे, ऑडिया स्पीकर, प्रदूषण सूचना बोर्ड लगा होगा। इस क्षेत्र में वाई-फाई की सुविधाएं भी होंगी। यहां  यात्रियों के आराम के  लिए कुर्सियां लगाई जाएंगीं। भगवान शिव की विभिन्ना मुद्राओं वाली पत्थर एवं फाइबर की प्रतिमाएं लगाई जाएंगी।

मृदा प्रोजेक्ट का दूसरा चरण अंतर्गत 157 करोड़ रुपये को है। इसमें  महाकाल मंदिर और महाराजवाड़ा स्कूल के बीच अंडरपास बनाने का काम किया जाएगा। रूद्रसागर का पानी साफ रखने को नृसिंह घाट पर वाटर ट्रीटमेंट प्लांट बनाया जाएगा। इसके अलावा नंदी हॉल विस्तार, रुद्रसागर की लैंड स्केपिंग, रामघाट मार्ग का सौंदर्यीकरण, पर्यटन सूचना केंद्र, रूद्रसागर झील को पुनजीर्वित किया जाएगा। पहला चरण पूरा होने के बाद अन्य काम शुरू होंगे।

 



Related