अनोखा विरोधः गाडगिल सागर में फेंकी गैस की टंकियां, जंगल से एकत्र की लकड़ियां


कांग्रेस कार्यकर्ताओं व नेताओं ने घरेलू रसोई गैस की टंकियों को गाडगिल सागर में फेंका। साथ ही जंगल से लकड़ियां भी एकत्र कर चूल्हा जलाया और भोजन भी बनाया।


DeshGaon
उज्जैन Updated On :
lpg-cylinder-in-gadgil-sagar

मंदसौर। मंदसौर जिले के मल्हारगढ़ में कांग्रेस नेताओं व कार्यकर्ताओं ने रसोई गैस के बढ़ते दामों का विरोध अनूठे अंदाज में किया और आमलोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं व नेताओं ने घरेलू रसोई गैस की टंकियों को गाडगिल सागर में फेंका और साथ ही जंगल से लकड़ियां भी एकत्र कर चूल्हा जलाया और भोजन भी बनाया।

बता दें कि बीते एक माह में घरेलू गैस की टंकियों के दाम में लगभग 125 रुपये का इजाफा किया गया है। घरेलू रसोई गैस के दाम 850 रुपये तक पहुंच गए हैं और सब्सिडी महज 50 से 54 रुपये तक बची है।

आम जन पर इसका भार पड़ रहा है। इसके विरोध में शनिवार को लेकर कांग्रेस ने अनूठा विरोध किया। ब्लॉक कांग्रेस के बैनर तले बढ़ती महंगाई व रसोई गैस के दामों को लेकर कांग्रेस ने काका गाडगिल डैम में गैस की टंकियां फेंकी व जंगल से लकड़ी एकत्रित कर विरोध प्रदर्शन किया।

gas-and-woods

जंगल में लकड़ियां बीनते कांग्रेस के नेता व कार्यकर्ता।

ब्लॉक कांग्रेस के अनिल शर्मा के नेतृत्व में मल्हारगढ़ के समीप काका गाडगिल सागर डैम पर यह आयोजन हुआ। कांग्रेस नेता घरेलू गैस की टंकियां कंधे पर उठाकर डैम पर ले गए। नारेबाजी करते हुए गैस की टंकियां पानी में फेंक दी।

इसके बाद वे सभी जंगल से लकड़ी एकत्र करने पहुंचे और लकड़ी के गट्ठर सर पर रखकर लाए। उसी लकड़ी से चूल्हा जलाकर भोजन भी बनाया।

इस पूरे अनूठे विरोध प्रदर्शन के दौरान जिला कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष अजहर हयात मेव, नगर कांग्रेस अध्यक्ष विजेश मालेचा, अरविंद सोनी, लियाकत मेव, अशोक खींची, बाबू मंसूरी, गोपाल भारती, मोहनलाल गुप्ता सहित अनेक कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता उपस्थित थे।



Related






ताज़ा खबरें