रंजना बघेल का उमंग सिघार व कांग्रेस पर हमला, कहा- सोचना चाहिए कैसे राजनैतिक चरित्र को पोषित करना है


फौरी तौर पर 306 का प्रकरण दर्ज होने के बाद फिलहाल मामला कुछ दिनों में ठंडा हो जाएगा, लेकिन चुनावी मौसम में यह मुद्दा कांग्रेस के लिए मुश्किलें खड़ी कर देगा।


आशीष यादव आशीष यादव
धार Updated On :
umang-singhar-and-ranjana-baghel

धार। टीम राहुल के सबसे खास सदस्य और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव एवं गंधवानी विधायक उमंग सिंघार पर 39 वर्षीय महिला की आत्महत्या के बाद महिला को प्रताड़ित करने का केस दर्ज हो गया है।

कांग्रेस विधायक सिंघार पर प्रकरण दर्ज होने के बाद भाजपा हमलावर हो गई है। पूर्व मंत्री व प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष रंजना बघेल ने विधायक सिंघार को लेकर कांग्रेस पार्टी को सलाह देते हुए कहा कि कांग्रेस को सोचना चाहिए कि किस तरह के राजनैतिक चरित्र को उन्हें पोषित करना है।

बता दें कि दो दिन पूर्व ही भोपाल में सिंघार के शाहपुरा बी सेक्टर स्थित निजी बंगले में 39 वर्षीय महिला सोनिया भारद्वाज ने आत्महत्या कर ली थी। बताया जा रहा है कि महिला लंबे समय से सिंघार के आवास में ही रह रही थी।

सिंघार बंगले से अपने विधानसभा क्षेत्र में पहुंचे थे और इस दौरान महिला ने आत्महत्या कर ली। इस मामले में महिला ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है जिसमें मृतका सोनिया भारद्वाज ने कहा है कि ‘उमंग का गुस्सा बहुत तेज है, अब प्रताड़ना बर्दाश्त नहीं कर सकती हूं।’

चरित्र पर उठाए सवाल, बताया इतिहास –

अंबाला निवासी सोनिया भारद्वाज 19 वर्षीय बेटे की मां भी हैं और उमंग सिंघार की महिला मित्र भी थीं। बंगले में महिला द्वारा आत्महत्या के बाद कांग्रेस डिफेंसिव मोड में आ गई है। स्वयं उमंग सिंघार ने इस मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है।

दूसरी तरफ, भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष रंजना बघेल ने सिंघार के चरित्र पर ही सवाल खड़े कर दिए है। उन्होंने कहा कि संवैधानिक पद पर होते हुए एक जनप्रतिनिधि का आचरण मर्यादा का होना चाहिए। महिलाएं खिलौना नहीं है।

उन्होंने इसके पूर्व उमंग सिंघार द्वारा की गई शादियों और छोड़ने के मामलों का भी जिक्र करते हुए कई बात कही हैं। उमंग सिंघार एक तेजतर्रार नेता माने जाते हैं। कांग्रेस की राजनीति में राहुल गांधी की टीम के सबसे खास सदस्य माने जाते हैं।

फौरी तौर पर 306 का प्रकरण दर्ज होने के बाद फिलहाल मामला कुछ दिनों में ठंडा हो जाएगा, लेकिन चुनावी मौसम में यह मुद्दा कांग्रेस के लिए मुश्किलें खड़ी कर देगा।
इधर फेसबुक पर भाजपा से जुड़े लोग आत्महत्या से संबंधित खबरों को शेयर करके लिख रहे हैं ‘यह है कांग्रेस का असली चेहरा’।