आज तय हो सकता है मंत्रीमंडल के विस्तार का कार्यक्रम, तुलसी और गोविंद सिंह बनेंगे मंत्री, इमरती, कंसाना और दंडोतिया के लिए भी मिलेगा पद


ख़बरों की मानें तो अगले दो-तीन दिनों में प्रदेश में मंत्री मंडल वि्स्तार  हो सकता है। इसे लेकर राजनीतिक गलियारों में लगातार चर्चा हो रही है। वहीं बहुत से दावेदार भोपाल में अचानक नज़र भी आने लगे हैं। हालांकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से गुरुवार को जब मंत्री मंडल विस्तार के बारे में बात की गई थी तो उन्होंने कोई ख़ास जवाब नहीं दिया था ले


देश गांव
राजनीति Updated On :

भोपाल। उपचुनावों के परिणामों के बाद एक बार फिर राजनीतिक हलचल काफी ज्यादा सुनाई दे रही है। ये हलचल चुनावों की नहीं बल्कि विजयी प्रत्याशियों को मिलने वाले जीत के इनाम की है। ख़बरों की मानें तो अगले दो-तीन दिनों में प्रदेश में मंत्री मंडल वि्स्तार  हो सकता है। इसे लेकर राजनीतिक गलियारों में लगातार चर्चा हो रही है। वहीं बहुत से दावेदार भोपाल में अचानक नज़र भी आने लगे हैं। हालांकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से गुरुवार को जब मंत्री मंडल विस्तार के बारे में बात की गई थी तो उन्होंने कोई ख़ास जवाब नहीं दिया था लेकिन अब हो रही हलचल के मुताबिक मंत्रीमंडल का विस्तार होने की संभावना काफी ज्यादा नजर आ रही है।

शुक्रवार को प्रदेश की प्रभारी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल लखनऊ से भोपाल आ रहीं हैं। मीडिया में जारी खबरों की मानें तो इससे पहले मुख्यमंत्री कई राजनीतिक बैठकें करने वाले हैं और वे सबसे पहले प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा से मुलाकात करेंगे। इस मुलाकात में सबसे प्रमुख मुद्दा मंत्रीमंडल विस्तार का ही होगा। उपचुनाव का परिणाम आए हुए चौबीस दिन बीत चुके हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के खास विधायकों गोविंद सिंह राजपूत और तुलसी सिलावट को मंत्री मंडल में शामिल करने का दबाव भी शिवराज सरकार पर लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में संभव है कि शुक्रवार को हो रही इस बैठक में इन दोनों पर चर्चा हो।

इसके अलावा अन्य इमरती देवी,  गिर्राज दंडोतिया और एदलसिंह कंसाना के भविष्य पर भी चर्चा हो सकती है। इन्हें  सरकार या निगम मंडलों में जगह देने की बात काफी पहले से हो रही है। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के भोपाल प्रवास मंत्रीमंडल और संगठन के विस्तार की इसी योजना से जोड़कर देखा जा रहा है। कुछ दिनों पहले ही राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मुख्यमंत्री से मिले थे और इस मुलाकात को भी इसी उद्देश्य से बताया गया था।



Related