युवक कांग्रेस ने टॉर्च लाइट जलाकर किया कृषि कानूनों का विरोध


कृषि कानूनों को लेकर मध्यप्रदेश में भी विरोध तेज़ है। यहां रीवा, सतना, इंदौर, नरसिंहपुर आदि जिलों में कई जगहों पर किसान और मज़दूर तथा अन्य संगठन इसका विरोध करते रहे हैं। कांग्रेस पार्टी भी अब मुखर नज़र आ रही है। अब युवक कांग्रेस ने भी विरोध तेज कर दिया है यहां नए अध्यक्ष विक्रांत भूरिया मोर्चा संभाले हुए हैं।  


देश गांव
राजनीति Published On :

भोपाल। विवादित  कृषि कानूनों का विरोध लगातार तेज़ हो रहा है। इसी कड़ी में युवक कांग्रेस ने बुधवार शाम भोपाल में प्रदर्शन किया। युवक कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत भूरिया के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने टॉर्च लाइट जलाकर कृषि कानूनों और किसान आंदोलन को लेकर सरकार के रवैये का विरोध किया। इस दौरान टॉर्च मार्च भी निकाला गया। इस विरोध में काफ़ी संख्या में युवा कांग्रेसी मौजूद रहे।

उल्लेखनीय है कि कृषि कानूनों को लेकर केंद्र सरकार का विरोध लगातार जारी है।  इन्हें लेकर देश में कई किसान संगठन जहां पहले से ही प्रदर्शन कर रहे हैं वहीं अब राजनीतिक विरोध भी कड़ा होता जा रहा है। एनडीए के बहुत से सहयोगी दल अब इस मामले में भाजपा के खिलाफ़ नज़र आ रहे हैं। इस बीच बुधवार को सरकार और किसानों के बीच बातचीत भी हुई है। जिसमें बिजली और पराली के मुद्दों पर रज़ामंदी बनी है।

कृषि कानूनों को लेकर मध्यप्रदेश में भी विरोध तेज़ है। यहां रीवा, सतना, इंदौर, नरसिंहपुर आदि जिलों में कई जगहों पर किसान और मज़दूर तथा अन्य संगठन इसका विरोध करते रहे हैं। कांग्रेस पार्टी भी अब मुखर नज़र आ रही है। अब युवक कांग्रेस ने भी विरोध तेज कर दिया है यहां नए अध्यक्ष विक्रांत भूरिया मोर्चा संभाले हुए हैं।

कृषि कानूनों का असर मध्यप्रदेश में भी नज़र आना शुरु हो गया है। यहां मंडियों में कामकाज ठप्प है और बहुत सी मंडियों में कर्मचारियों को वेतन तक नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में यहां आने वाले दिनों में बड़े आर्थिक संकट की आशंका भी जताई जा रही है। इसके अलावा व्यापारियों द्वारा किसानों को ठगने के भी कई मामले सामने आए हैं। ऐसे में कांग्रेस कृषि कानूनों के मुद्दों पर तेज़ विरोध करने का मन बना रही है।



Related