लॉकडाउन के बाद लगेगा महंगाई का एक और झटका, बसों के किराये में बड़ी बढ़ोत्तरी


बसों के किराये में बड़ी बढ़ोत्तरी की गई है। इसे लेकर ऑपरेटरर्स काफी समय से मांग कर रहे थे। पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ी हुई कीमतें हैं ज़िम्मेदार।


देश गांव
सबकी बात Updated On :

भोपाल। बस किराये में बढ़ोत्तरी को लेकर ऑपरेटरों की लंबे समय से चली आ रही मांग सरकार ने पहले ही मांग ली थी और अब इसे लेकर सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। मध्यप्रदेश में अब प्राईवेट बसों के किराये में 25 प्रतिशत तक बढ़ोत्तरी कर दी गई है।

इस निर्णय को लेकर सरकार के परिवहन विभाग ने अब नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। इसके मुताबिक अब किसी भी दूरी की बस का न्यूतनम किराया सात रुपये तय किया गया है वहीं किलोमीटर के हिसाब से अब 1.25 रुपये प्रति किलोमीटर की दर से किराया तय किया गया है। यह बढ़ोत्तरी सामान्य बसों के लिये ही है वहीं इसके अलावा लग्जरी बसों के किराए में 25 से 75% तक की वृद्धि तय की गई है। इसके मुताबिक मध्यप्रदेश में लंबी दूरी की बसों के किराये में कम से कम चालीस से पचास प्रतिशत की बढ़ोत्तरी तय है।

वहीं लग्जरी बसों जैसे डीलक्स (नाॅन एसी) स्लीपर, डीलक्स (एसी) और सुपर लग्जरी कोच बसों के लिए तय किए गए किराए में रात्रि प्रभार यात्रियों से नहीं वसूला जाएगा। रात्रि प्रभार सिर्फ सामान्य बस ऑपरेटर ही ले सकेंगे।

ज़ाहिर है बसों के किराये में बढ़ोत्तरी का जनता पर बोझ पड़ना है। इसका सीधा सा कारण देश में पेट्रोल और डीज़ल के दामों में बढ़ोत्तरी है। जिसके बाद से ही बस ऑपरेटर किराये में बढ़ोत्तरी की मांग करते आ रहे हैं। फिलहाल कोरोना लॉकडाउन है लेकिन इसके खत्म होने के तुरंत बाद इसका असर आम लोगों को महसूस होगा।