दसवीं और बारहवीं के पाठ्यक्रम में कटौती, कॉलेज भी दिसंबर से होंगे शुरू


पाठ्यक्रम में कटौती प्रतियोगी परीक्षाओं को देखते हुए की गई है। इसके अलावा 2020-21 सत्र के लिए 10वीं और 12वीं के बोर्ड परीक्षा के फॉर्म भी जमा करवाना शुरू कर दिए गए हैं।


देश गांव
पढ़ाई-लिखाई Updated On :

भोपाल। प्रदेश में शैक्षिक सत्र 2020 और 21 के 10वीं और 12वीं के पाठ्यक्रम कम कर दिए गए हैं। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने इन पाठ्यक्रमों में 30% तक की कटौती की है। इसमें 9वी और 11वीं में पढ़ चुके पाठ्यक्रम को हटा दिया गया है। इसके बारे में मंडल ने अपनी वेबसाइट पर जानकारी उपलब्ध करा दी है।

पाठ्यक्रम में कटौती के इस निर्णय को लेकर माध्यमिक शिक्षा मंडल ने एक बैठक आयोजित की थी। तीन दिनी इस बैठक में कई तरह के सुझाव आए। बताया जाता है कि पाठ्यक्रम में कटौती प्रतियोगी परीक्षाओं को देखते हुए की गई है। इसके अलावा 2020-21 सत्र के लिए 10वीं और 12वीं के बोर्ड परीक्षा के फॉर्म भी जमा करवाना शुरू कर दिए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि 21 सितंबर से 9 वीं कक्षा से स्कूल तो शुरू हो चुके हैं लेकिन इनमें केवल 10% विद्यार्थी भी शामिल हो रहे हैं। ऐसे में स्कूलों में कोई पढ़ाई नहीं हो पा रही है।

बोर्ड ने निर्णय लिया है कि सरकारी स्कूलों में पहली से आठवीं कक्षा तक 30 नवंबर तक छुट्टी रखी जाएगी। इस बारे में माध्यमिक शिक्षा मंडल ने गुरुवार को आदेश जारी कर दिए हैं।

इसके अलावा नौवीं से 12वीं तक की कक्षाएं पहले की तरह आंशिक रूप से लगाई जाएंगी और वही पहली से आठवीं तक ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जाएगी।

स्कूलों के अलावा प्रदेश के कॉलेजों को शुरु करने की तैयारी भी कर ली गई है। इस दौरान प्रोफेसर और विद्यार्थियों को उपस्थित रहना होगा। उच्चशिक्षा मंत्री मोहन यादव ने गुरुवार को अपनी प्रेस वार्ता में इसकी जानाकरी दी है। उन्होंने बताया कि कॉलेज में यूजी और पीजी कक्षाओं में प्रवेश परीक्षा देनी होगी।



Related