भोपाल में तीन सौ तो इंदौर में पांच सौ से ज्यादा मिल रहे कोरोना के मरीज, सागर जिले में मृत्यु दर अधिक


भोपाल में जहां रोजाना तीन सौ से अधिक मरीज मिल रहे हैं तो वहीं इंदौर में पांच सौ से अधिक। इन शहरों में कोरोना पहले भी काफी भयानक रुप ले चुका है।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इन दोनों ही जिलों में बनाए जा रहे कंटेन्मेंट ज़ोन को पूरे चौदह दिन के बाद ही खोलने के लिए कहा है।  


देश गांव
सबकी बात Updated On :
Photo Courtesy: The Hindu


भोपाल। प्रदेश में कोरोना के 1500 से अधिक मामले मिले हैं। रविवार को आई रिपोर्ट में 1514 नए संक्रमित मिले हैं।  इंदौर प्रशासन की रिपोर्ट के मुताबिक में यहां 523 मरीज मिले हैं तो वहीं भोपाल में 305 नए मरीज मिले हैं। इन दोनों ही शहरों में संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है।  भोपाल में जहां रोजाना तीन सौ से अधिक मरीज मिल रहे हैं तो वहीं इंदौर में पांच सौ से अधिक। इन शहरों में कोरोना पहले भी काफी भयानक रुप ले चुका है।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इन दोनों ही जिलों में बनाए जा रहे कंटेन्मेंट ज़ोन को पूरे चौदह दिन के बाद ही खोलने के लिए कहा है।

स्वास्थ्य संचालनालय की  रिपोर्ग्वाट के मुताबिक ग्वालियर में 70 जबलपुर में 63 नए संक्रमित मिले हैं। रविवार को जारी रिपोर्ट में 13 लोगों कीमृत्यु भी बताई गई है। आगर, मालवा, बुरहानपुर, पन्ना,  मंडला, उमरिया, अलीराजपुर, टीकमगढ़, कटनी, राजगढ़, बड़वानी, शिवपुरी यह कुछ ऐसे जिले हैं जहां संक्रमण फिलहाल कम है। जबकि खरगोन, सागर, उज्जैन, रतलाम, धार, विदिशा, देवास आदि जिलों में संक्रमण अपने लगातार पैर पसार रहा है। सागर में संक्रमण से मृत्युदर काफी अधिक है। यहां अब तक 4331 लोग संक्रमित हुए हैं और इनमें से 139 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि सबसे ज्यादा 756 लोगों की मौत इंदौर में हुई है। इसके बाद भोपाल में 517, ग्वालियर में 181 और जबलपुर में 223 लोग कोरोना से दम तोड़ चुके हैं।

इस रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में फिलहाल 14974 सक्रिय मामले हैं। सबसे अधिक सक्रिय मामले इंदौर में है जहां 4674 लोग अभी भी कोरोना की चपेट में है। इसके बाद भोपाल में 2836 लोग ग्वालियर में 838,  जबलपुर में 698,  खरगोन में 234,  सागर में 302,  उज्जैन में 283,  रतलाम में 552,  धार में 214  और रीवा में 251 कोरोना के सक्रिय मरीज हैं।



Related