नेहरू और कांग्रेस को याद कर शिवराज ने की भाजपा के प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत!


पार्टी कार्यकर्ताओं के मनोबल को बढ़ाने और उन्हें पार्टी की श्रेष्ठता का अहसास दिलाने के लिए कई जतन किए जा रहे हैं।  भाजपा कार्यकर्ताओं के इस प्रशिक्षण शिविर की शुरुआत पंडित नेहरू और कांग्रेस पर दोषारोपण के साथ हुई। मुख्यमंत्री ने यहां भी कांग्रेस और देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि नेहरू ने देश को खंडित करने वाली नीतियां बनाई हैं।


देश गांव
राजनीति Updated On :

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर चुनावी तैयारी में नजर आ रही है। इसके लिए प्रदेश भर में प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। प्रशिक्षण शिविर की शुरुआत सीहोर जिले के शाहगंज मंडल से हुई। यहां रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पहुंचे।

पार्टी कार्यकर्ताओं के मनोबल को बढ़ाने और उन्हें पार्टी की श्रेष्ठता का अहसास दिलाने के लिए कई जतन किए जा रहे हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं के इस प्रशिक्षण शिविर की शुरुआत पंडित नेहरू और कांग्रेस पर दोषारोपण के साथ हुई। मुख्यमंत्री ने यहां भी कांग्रेस और देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि

नेहरू ने देश को खंडित करने वाली नीतियां बनाई हैं। उन्होंने कहा कि पंडित नेहरू ने देश की संस्कृति, परंपरा और जीवन मूल्यों की कोई चिंता नहीं की। मुख्यमंत्री पहले भी पंडित नेहरू पर कई तरह के आरोप लगाते रहे हैं। एक बार उन्होंने पंडित नेहरू को अपराधी भी कहा था।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भाजपा में जमीन आसमान का अंतर है। जनसंघ और भाजपा के पास उनका गौरवशाली इतिहास है और हमारा काम पार्टी के लिए जीना मरना है। ये कार्यकर्ता भारत को वैभवशाली देश बनाने के लिए जुटे हैं।  चौहान ने कहा कि जब हमारा देश विखंडित हो चुका था, तब देश के मनीषियों, चिंतकों ने राष्ट्र की चिंता की और देश की समस्याओं के निराकरण के लिए जनसंघ का गठन हुआ।

मुख्यमंत्री ने यहां कहा कि भाजपा जो कहती है वह करती है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश के जटिलताओं को हल करने वाला प्रधानमंत्री बताया। मोदी और केंद्र सरकार की उपलब्धियां बताईं। उन्होंने राम मंदिर, कश्मीर जैसे मुद्दों का जिक्र करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश के जटिलतम मुद्दे हल हुए हैं।

मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार और पार्टी की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि भाजपा जो कहती है, वह करती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राममंदिर, कश्मीर सहित कई मुद्दे सुलझे हैं। चौहान ने कहा कि कांग्रेस को जनता की चिंता कभी नहीं रही।  यह मध्यप्रदेश में पंद्रह महीनों तक चली कांग्रेस की सरकार में भी नजर आया।

प्रशिक्षण शिविर को उन्होंने कार्यकर्ताओं के लिए सबसे महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि सरकार की योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंचाने के लिए इस प्रशिक्षण जरूरी है। इससे कार्यकर्ता की क्षमताएं बढ़ती हैं। उन्होंने सभी पंचायतों में दीनदयाल समितियां बनाने और इनके माध्यम से लोगों को जोड़ने के लिए कहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थानीय इकाईयों को मजबूत बनाना सबसे ज्यादा जरूरी है। भाजपा के इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में डेढ़ लाख कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया जाएगा। खबरों की मानें तो यह प्रशिक्षण आगामी निकाय और पंचायत चुनावों को ध्यान में रखते हुए दिया जा रहा है।



Related