66.09% वोटिंग के साथ उप-चुनाव सम्पन्न, सिंधिया के गढ़ में घर से नहीं निकले आधे वोटर


चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक सबसे ज्‍यादा मतदान दर वाली विधानसभा सीट बदनावर रही है जबकि सबसे कम मतदान 42.99 प्रतिशत ग्‍वालियर पूर्व की सीट पर रहा है। दूसरे नंबर पर कम मतदान वाली सीट ग्‍वालियर है।


देश गांव
बड़ी बात Updated On :

मध्‍य प्रदेश के उपचुनाव में अनुमानित मतदान की दर शाम 5 बजे तक 66.09 प्रतिशत रही है। चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक सबसे ज्‍यादा मतदान दर वाली विधानसभा सीट बदनावर रही है जबकि सबसे कम मतदान 42.99 प्रतिशत ग्‍वालियर पूर्व की सीट पर रहा है। दूसरे नंबर पर कम मतदान वाली सीट ग्‍वालियर है।

ग्‍वालियर पूर्व और ग्‍वालियर दोनों सीटों पर सबसे कम मतदान होने की एक वजह हिंसा बतायी जा रही है। मुरैना जिले में सुमावली विधानसभा सीट के कासपुरा और खनेता गांव में फायरिंग हुई। इसमें एक महिला को गोली लगी। दो बाइक भी जलायी गयी।

जौरा में बाहुबलियों ने मतदान रोकने की कोशिश भी की। माना जा रहा है कि हिंसा की इन खबरों के चलते लोग घरों से मतदान देने कम निकले।

पुलिस ने मतदान के दौरान एहतियातन भाजपा और कांग्रेस के स्‍थानीय नेताओं को हिरासत में ले लिया था ताकि मतदान शांतिपूर्ण माहौल में हो सके।

मतदान शुरू होने पर सुबह कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ईवीएम का सवाल उठाया था जिसे बाद में मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर के आड़े हाथों लिया और कहा कि हार सामने दिखने पर कांग्रेस बहाने बना रही है।

मतदान पूरा होने पर पूर्व मुख्‍यमंत्री कमलनाथ ने मतदाताओं का आभर प्रकट करते हुए कहा कि 10 नवंबर को जनता की सरकार बनना तय है।

कांग्रेस से भाजपा में आए ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने भी मतदान समाप्ति के बाद मतदाताओं का आभार जताया।

उपचुनाव की सभी 28 सीटों पर हुए मतदान का अनुमानित प्रतिशत नीचे चुनाव आयोग द्वारा जारी तालिका में देखा जा सकता है।



Related