गाजियाबाद: श्मशान में छत गिरने से 19 की मौत, सीएम ने मंगाई हादसे की रिपोर्ट


उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में रविवार को मुरादनगर के श्मशान घाट में अंतिम संस्कार के दौरान गैलरी की छत गिरने से कई लोग दब गए। इस घटना में 19 लोगों के मरने व दो दर्जन से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है।


Kumar Manish Kumar Manish
बड़ी बात Updated On :
ghaziabad-roof-collapsed

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में रविवार को मुरादनगर के श्मशान घाट में अंतिम संस्कार के दौरान गैलरी की छत गिरने से कई लोग दब गए। इस घटना में 19 लोगों के मरने व दो दर्जन से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है।

बताया जा रहा है कि एक स्थानीय फल कारोबारी के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए आए 100 लोगों में से ज्यादातर बारिश से बचने के लिए श्मशान घाट में बनी गैलरी की छत के नीचे खड़े थे। इस हादसे में जिस शख्स का दाह संस्कार चल रहा था, उसके एक बेटे की भी मौत हो गई है।

मेरठ की डिविजनल कमिश्नर अनीता सी मेश्राम ने जानकारी देते हुए बताया कि अब तक 17 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो चुकी है। 38 लोगों को मलबे से निकाला जा चुका है और उन्हें अस्पताल भेजा गया है।

श्मशान घाट पर मुरादनगर के फल कारोबारी जयराम का अंतिम संस्कार किया जा रहा था, जिनकी 65 साल की उम्र में मृत्यु हो गई थी। अंतिम संस्कार के दौरान सभी लोग गेट से सटी गैलरी में खड़े थे, जो ढ़ाई माह पहले ही बनी थी। हादसे के बाद स्थानीय लोगों का कहना है कि गैलरी बनाने में घटिया मैटेरियल का इस्तेमाल हुआ था।

ghaziabad-roof-collapsed-death-cause

एनडीआरएफ की एक टीम बचाव व राहत कार्य में जुटी है। बारिश की वजह से बचाव कार्य में दिक्कत आ रही है। मृतकों में तीन की पहचान हो गई है। इनके नाम योगेंद्र, बंटी और ओंकार हैं, संगम विहार और मुरादनगर के रहने वाले थे।

ghaziabad-roof-collapsed-death

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मरने वालों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपये की आर्थिक मदद देने के निर्देश दिए हैं। साथ ही मंडलायुक्त मेरठ और एडीजी मेरठ जोन से घटना की रिपोर्ट मांगी है।



Related