गुपकार एलायंस के बहाने शिवराज सिंह चौहान ने बोला कांग्रेस पर हमला


मुख्यमंत्री ने  जवाहरलाल नेहरू पर  आरोप लगाते हुए कहा कि, पंडित नेहरू जी ने कश्मीर में धारा 370 लागू करवाई! पंडित नेहरू जी ने एक देश में दो निशान, दो विधान और दो प्रधान की व्यवस्था की जिससे कश्मीर भारत से समरस नहीं हुआ। पंडित नेहरू जी कश्मीर मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र संघ में ले गए और जनमत संग्रह तक की बात कही!


देश गांव
बड़ी बात Published On :

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज पंडित जवाहरलाल नेहरू और कांग्रेस पर बहुत ही तल्ख़ भाषा में हमला बोला है. शिवराज सिंह आज मीडिया से बात करते हुए कहा कि, कांग्रेस ने जिस गुपकार गैंग के साथ हाथ मिलाया है, वह वास्तव में गुप्तचर गैंग है! ये पाकिस्तान और चीन के गुप्तचर हैं। कांग्रेस ने तो हमेशा ही देशविरोधी ताकतों का साथ दिया है। गुपकार गैंग के लोगों ने ज़िंदगी भर जम्मू-कश्मीर को लूटा है!

उन्होंने कहा,अब्दुलाओं, मुफ्तियों और एक गांधी परिवार की लूट की दुकान अनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद बंद हो गई थी। अब ये फिर से जम्मू-कश्मीर की हवा में ज़हर घोलने का प्रयास कर रहे हैं। 

मुख्यमंत्री ने  जवाहरलाल नेहरू पर  आरोप लगाते हुए कहा कि, पंडित नेहरू जी ने कश्मीर में धारा 370 लागू करवाई! पंडित नेहरू जी ने एक देश में दो निशान, दो विधान और दो प्रधान की व्यवस्था की जिससे कश्मीर भारत से समरस नहीं हुआ। पंडित नेहरू जी कश्मीर मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र संघ में ले गए और जनमत संग्रह तक की बात कही!

सीएम शिवराज सिंह ने, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला और महबूबा मुफ़्ती पर भी हमला बोलते हुए कहा कि ये लोग देश के विभाजन कका षड्यंत्र कर रहे हैं उन्होंने कहा कि , जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री श्री फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि कांग्रेस पार्टी गुपकार घोषणापत्र गठबंधन का हिस्सा है और ज़िला विकास परिषद के चुनाव कांग्रेस गुपकार गठबंधन के साथ लड़ेगी। धारा 370 को लेकर कांग्रेस का क्या दृष्टिकोण है, मैडम सोनिया गांधी स्पष्ट करें!

मुख्यमंत्री ने कांग्रेस से सवाल करते हुए पूछा कि, आज सारा देश यह जानना चाहता है कि धारा 370 की समाप्ति का विरोध करने वालों और आतंकवाद को बढ़ावा देकर जम्मू-कश्मीर की फिज़ा में ज़हर घोलने वालों के साथ हाथ में हाथ डालकर कांग्रेस पार्टी क्यों खड़ी है?

गौरतलब है कि, बीते दिनों  अविभाजित जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी की घटक रहीं पीडीपी नेता महबूबा मुफ़्ती ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर कहा था कि वह तब तक तिरंगा नहीं उठाएगी जब तक उन्हें कश्मीर का झंडा नहीं मिल जाता। उनके इस बयान पर मीडिया और बीजेपी ने कड़ी आपत्ति जताई थी।

बता दें कि हाल ही में गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर के गुपकार गुट को गुपकार गैंग करार दिया था अमित शाह ने कांग्रेस नेतृत्व से सवाल करते हुए कहा है कि ये गैंग जम्मू-कश्मीर में विदेश में विदेशी ताकतों का दखल चाहता है, हमारे राष्ट्र ध्वज का अपमान करता है? क्या सोनिया और राहुल गांधी इसका समर्थन करते हैं? अमित शाह ने कहा था कि वे गुपकार गुट को कहना चाहते हैं कि ये लोग देश के मूड के साथ चलें, वर्ना खत्म हो जाएंगे

बता दें कि कश्मीर में डीडीसी के लिए चुनाव प्रचार चल रहा है और आरिफ अमिन नामक एक उम्मीदवार ने आरोप लगाया है कि उन्हें चुनाव प्रचार नहीं करने दिया जा रहा है