MYH से चोरी नवजात पांच दिनों बाद थाने के पास ही छोड़ गई आरोपी महिला


इंदौर के महाराजा यशवंतराव अस्पताल यानी एमवायएच के प्रसूति वार्ड से बीती रविवार को चोरी गया नवजात शिशु पांच दिन बाद शुक्रवार को मिल गया। इंदौर पुलिस की मेहनत रंग लाई और चौतरफा दबाव के कारण आरोपी बच्चे को संयोगितागंज पुलिस स्टेशन के गेट पर छोड़ गए।


अरूण सोलंकी अरूण सोलंकी
इन्दौर Updated On :
myh newborn logo

इंदौर। इंदौर के महाराजा यशवंतराव अस्पताल यानी एमवायएच के प्रसूति वार्ड से बीती रविवार को चोरी गया नवजात शिशु पांच दिन बाद शुक्रवार को मिल गया।

इंदौर पुलिस की मेहनत रंग लाई और चौतरफा दबाव के कारण आरोपी बच्चे को संयोगितागंज पुलिस स्टेशन के गेट पर छोड़ गए।

पुलिस के अनुसार साढ़े छह बजे के करीब एक महिला सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है, जो कपड़े में लिपटा बच्चा लेकर थाना परिसर में आई और उसे छोड़कर चली गई।

बताया जा रहा है कि जिस जगह पर महिला ने बच्चे को छोड़ा था वह पार्किंग स्थल वाला एरिया है, जो कि थाने पर लगे कैमरे से थोड़ी दूर पर है। इस कारण महिला का चेहरा स्पष्ट नजर नहीं आ रहा है।

संभवत: ये वही महिला हो, जिसने बच्चे को चुराया था। अन्य सीसीटीवी की मदद से बच्चे को रखने वाले की तलाश की जा रही है। उधर, बच्चे को जांच के बाद एमवायएच की पीआईसीयू में भर्ती करवा दिया गया है।

चोरी गए नवजात की बरामदगी की पुष्टि खुद इंदौर डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने की है। उन्होंने बताया कि

पुलिस ने सफेद रंग की 450 गाड़ियां चिन्हित की थी। इन गाड़ियों के मालिकों को एक-एक कर बुलाया जा रहा था। पुलिस की सख्ती के कारण उसी में से किसी आरोपी ने डर से नवजात को थाने के पास लाकर छोड़ दिया है।

जानकारी मिली है कि नवजात को सुबह छह बजे के करीब छोड़ा गया है क्योंकि थाने के जवानों के अनुसार मुंशी जब पौने छह बजे के करीब थाने पहुंचे थे तो वहां कोई बच्चा नहीं था।

संभवत: ताक में बैठे आरोपियों ने मौका पाकर उसे थाने के पास में छोड़ दिया। सुबह करीब छह बजे सफाईकर्मी जब पहुंचे तो वहां पर बच्चा रखा हुआ था। पुलिस मामले में CCTV फुटेज खंगाल रही है ताकि आरोपियों की पहचान हो सके।