दिल्ली में होने वाले नेशनल स्पर्धा के लिए महू के नौ शूटर्स ने किया क्वालिफाई


बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए महू के 19 शूटरों ने राइफ़ल और पिस्टल शूटिंग के विभिन्न इवेंट में भाग लिया एवं नवंबर 2021 में दिल्ली में होने वाले नेशनल स्पर्धा के लिए नौ शूटरों ने क्वालिफाई कर लिया।


देश गांव
इन्दौर Published On :
shooting

महू। बीते दिनों समाप्त हुए 30वें जीवी मावलंकर शूटिंग स्पर्धा 2021 में राजाजी शूटिंग क्लब (महू) के शूटर्स ने अपना जलवा दिखाया है। बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए महू के 19 शूटरों ने राइफ़ल और पिस्टल शूटिंग के विभिन्न इवेंट में भाग लिया एवं नवंबर 2021 में दिल्ली में होने वाले नेशनल स्पर्धा के लिए नौ शूटरों ने क्वालिफाई कर लिया।

इनमें सब यूथ 11-14 वर्ष, यूथ 15-18 वर्ष, जूनियर 19-21 वर्ष और सीनियर – 21 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के निशानेबाजों ने हिस्सा लिया था।

10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में पांच शूटरों अवनीश गिरी गोस्वामी, परम यादव, अनुष्का मित्रा, गरिमा मित्रा एवं तनिषा पाटीदार ने सभी कैटगरी में क्वालिफाई किया है।

इसी इवेंट के सीनियर वर्ग में कहकशां खान और ले. कर्नल सरोजा कुमारी जे, सेना मेडल (सेनि) ने क्वालिफाई किया। ले. कर्नल सरोजा कुमारी ने .22 पिस्टल के 25 मीटर इवेंट सीनियर कैटेगरी में भी क्वालिफाई किया है।

वहीं, हर्षित पाटीदार ने 10 मीटर एयर राइफ़ल इवेंट के सभी कैटगरी में भाग लेते हुए क्वालिफाई कर लिया है।

महू तहसील के गवली पलासिया ग्राम में अप्रैल 2019 में राजाजी शूटिंग क्लब की स्थापना सेवानिवृत्त ले. कर्नल सरोजा कुमारी जे, सेना मेडल ने किया। पिस्टल शूटिंग में वे कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं।

आर्मी मार्क्समैनशिप यूनिट महू से वे वर्ष 1994 में जुड़ी थीं। 2018 तक वे आर्मी की तरफ से शूटिंग प्रतियोगिताओं में भाग ले चुकी हैं। वे अभी भी शूटिंग करती हैं और युवकों को प्रशिक्षण भी देती हैं।

उनका सपना था कि ग्रामीण युवकों को श्रेष्ठ प्रशिक्षण देकर उन्हें राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शूटिंग चैंपियन बनायें। वे राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 118 मेडल जीत चुकी हैं, सात बार नेशनल चैंपियन रह चुकी हैं और उन्हें “लेजेंड ऑफ आर्मड फोर्सेज” की उपाधि से भी नवाज़ा जा चुका है। उनकी दिली तमन्ना है कि वे अपना सारा ज्ञान और तजुर्बा अगली पीढ़ी को दें।