युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष मनोज ठाकुर ने पलट दिया मंत्री उषा ठाकुर का फैसला


मंत्री उषा ठाकुर और स्थानीय भाजपा नेताओं में संबंध अक्सर बनते बिगड़ते रहते हैं लेकिन चुनाव जब करीब आ रहे हैं तब कार्यकर्ताओं से नाराजगी मुश्किल साबित हो सकती है।


अरूण सोलंकी अरूण सोलंकी
इन्दौर Published On :

इंदौर। महू में जनता युवा मोर्चा मे मंडल अध्यक्ष की नियुक्तियों को लेकर मोर्चा के जिला अध्यक्ष मनोज ठाकुर और विधायक उषा ठाकुर एक बार फिर आमने-सामने हो गए हैं। इसके बाद महू की राजनीति में एक बार फिर भाजपा संगठन के लिए नुकसानदेह साबित हो सकने वाली खबरें आ रही हैं।

करीब 3 सप्ताह पूर्व भाजपा नगर अध्यक्ष ने विधायक की सहमति से मंडल मोर्चा के अध्यक्ष की नियुक्ति कर दी थी जिसमें जिला अध्यक्ष मनोज ठाकुर को पूरी तरह अनदेखा कर दिया गया था। इसकेे बाद जिला अध्यक्ष लगातार चल रहे थे और उन्होंने कई बार इसके बारे में पार्टी में उच्च पदाधिकारियों से भी शिकायत की। रविवार को ठाकुर की विधायक से यह नाराजगी सबके सामने भी आ गई। जिलाध्यक्ष ने अपने अधिकारों का उपयोग करते हुए नए मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति कर दी। इसमें खास बात यह रही कि मंत्री उषा ठाकुर की पसंद से बनाए गए महू मंडल के   अध्यक्ष शुभम सोलंकी  को डिमोट कर महामंत्री बना दिया गया। जिला अध्यक्ष और विधायक की रस्साकशी के बाद सोलंकी ने खुद भारी मन से इसे स्वीकार कर लिया।

 

महू में विधायक व मंत्री उषा ठाकुर की सहमति से भाजपा के नगर अध्यक्ष पीयूष अग्रवाल ने चारों मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति कर दी थी। जिसमें महू नगर युवा मोर्चा अध्यक्ष के पद पर ऋषभ सोलंकी को बनाया था, इस दौरान ऋषभ के नाम का खासा विरोध हुआ।

बताया जाता है कि नियुक्तियां पूरी तरह मंत्री उषा ठाकुर की मर्जी से हुईं थी और उन्होंने युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष के अधिकारों पर अतिक्रमण करते हुए यह काम किया था।

अब मनोज ठाकुर ने महू नगर अध्यक्ष युवा मोर्चा के पद पर पूर्व में घोषित ऋषभ सोलंकी को हटाते हुए वैभव श्रीवास को बनाया है जबकि ऋषभ सोलंकी को मोर्चा का नगर महामंत्री बनाया है।

भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष मनोज ठाकुर तथा सामने उषा ठाकुर और पीयूष अग्रवाल के बीच एक बार फिर राजनीति मनमुटाव बढ़ गया है और दोनों ही गुट आमने-सामने हो गए हैं।

दरअसल मनोज ठाकुर कैलाश विजयवर्गीय के कट्टर समर्थक है जबकि पीयूष अग्रवाल पूर्व में कैलाश विजयवर्गीय थे लेकिन समय को देखते हुए उन्होंने पाला बदला पाला और विधायक उषा ठाकुर के साथ हो गए। वहीं उषा ठाकुर की कैलाश विजयवर्गीय से नाराजगी किसी से छिपी नहीं है।

महू की राजनीति में ऐसा पहले भी हुआ है लेकिन तब भी यह मंत्री उषा ठाकुर के कार्यकाल में ही हुआ। दरअसल वर्ष 2018 में पूर्व भाजपा नगर अध्यक्ष करण ठाकुर ने रंजीत स्वामी को युवा मोर्चा का अध्यक्ष बनाया था। उस दौरान तब के जिला अध्यक्ष श्रवण चावड़ा ने अमित जोशी को अध्यक्ष बनाया था।

इस संबंध में इस संबंध में मनोज ठाकुर ने कहा कि रविवार को जो भी नियुक्ति मेरे द्वारा की गई है वह संगठन के नियमानुसार की गई है तथा यही मान्य होंगी।