रतलाम: मस्जिद के सामने हिंदू संगठनों ने लगाए लाउडस्पीकर, बोले- अजान होगी तो बजाएंगे तेज गाने


रतलाम में हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने लाउडस्पीकर से अजान होने पर आपत्ति जताई है। सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे इस वीडियो में एक युवक कह रहा है कि उन्होंने मस्जिद के सामने वाली इमारत पर लाउडस्पीकर लगा दिए हैं।


देश गांव
उज्जैन Published On :
mosque loudspeakers

रतलाम। देश-प्रदेश में हिजाब पर बैन वाला विवाद अभी ठीक से शांत भी नहीं हुआ था कि रतलाम के रावटी इलाके के बताए जा रहे एक वीडियो के सामने आने के बाद अब लाउडस्पीकर से अजान को लेकर विवाद खड़ा हो गया है।

रतलाम में हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने लाउडस्पीकर से अजान होने पर आपत्ति जताई है। सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे इस वीडियो में एक युवक कह रहा है कि उन्होंने मस्जिद के सामने वाली इमारत पर लाउडस्पीकर लगा दिए हैं।

उसका कहना है कि अब से जब भी अजान होगी, हम लाउडस्पीकर पर तेज गाने बजाएंगे। वीडियो कथित तौर पर जिले के रावटी इलाके का बताया जा रहा है।

29 सेकेंड के इस वीडियो में युवक कह रहा है-

रावटी की मस्जिद में अजान को लेकर पुलिस में अर्जी देने के बाद भी लाउडस्पीकर से अजान हो रही है। हमने भी इसका उपाय खोज लिया है। हमने मस्जिद के सामने वाली इमारत में लाउडस्पीकर लगा दिए हैं। जब-जब अजान होगी, हम लाउडस्पीकर बजाएंगे। ये संदेश पूरे हिंदुस्तान में जाना चाहिए।

बताया जा रहा है कि यह वीडियो 31 जनवरी को शूट किया गया था। इसके एक दिन पहले ही आरएसएस से जुड़े हिंदू जागरण मंच ने लाउडस्पीकर्स से अजान पर रोक लगाने की मांग को लेकर रतलाम जिले के रावटी पुलिस थाने में आवेदन दिया था।

वीडियो के सामने आने के बाद पुलिस रावटी गांव पहुंची, जहां उन्होंने मुस्लिम समुदाय से मस्जिद के लाउडस्पीकर की आवाज कम करने का आग्रह किया। साथ ही साथ सामने वाली इमारत पर स्थानीय लोगों द्वारा लगाए गए लाउडस्पीकर भी हटवाए।

ratlam hindu outfits
हिंदू संगठनों द्वारा इस तरह की अर्जियां पुलिस को दी गईं हैं।

बता दें कि रतलाम के अलावा खंडवा, बड़वानी, धार और उज्जैन व अन्य शहरों में भी लाउडस्पीकर पर अजान को लेकर आपत्ति जताने की बात सामने आई हैं।

हिंदू जागरण मंच ने स्थानीय लोगों के साथ मिलकर इन शहरों के विभिन्न थानों में अर्जियां देकर मस्जिदों में लाउडस्पीकर पर रोक लगाने की मांग की है।
आवेदन में सउदी अरब के जून 2021 के एक फैसले का उल्लेख किया गया, जिसमें अत्यधिक शोर की शिकायतों के बाद मस्जिद के लाउडस्पीकर की आवाज को कम किया गया था।



Related