मध्यप्रदेश: बर्फीली हवाओं से पारा 3 डिग्री तक लुढ़का, कई जिलों में शीतलहर का अलर्ट


उत्तर भारत के पहाड़ों में हो रही बर्फबारी और वहां से आनेवाली बर्फीली हवाओं के कारण मध्यप्रदेश भी ठिठुरने लगा है। साथ ही साथ यहां पर न्यूनतम तापमान तीन डिग्री तक नीचे आ चुका है।


देश गांव
हवा-पानी Published On :
mp-weather

भोपाल। उत्तर भारत के पहाड़ों में हो रही बर्फबारी और वहां से आनेवाली बर्फीली हवाओं के कारण मध्यप्रदेश भी ठिठुरने लगा है। साथ ही साथ यहां पर न्यूनतम तापमान तीन डिग्री तक नीचे आ चुका है।

मौसम विभाग ने ठंड से बचने के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। वहीं, 24 दिसंबर तक ठंड के तेवर तीखे बने रह सकते हैं।

ग्वालियर, चंबल, सागर और रीवा संभाग शीतलहर की चपेट में आ चुके हैं। भोपाल में न्यूनतम तापमान 6.6 डिग्री पर पहुंच गया है क्योंकि तीन दिन में सात डिग्री तक पारा नीचे आया है।

प्रदेश में सबसे कम तापमान में उमरिया में तीन डिग्री रिकॉर्ड किया गया। इसके पहले शुक्रवार को दतिया में न्यूनतम तापमान तीन डिग्री तक चला गया था।

प्रदेश के नौ शहरों उमरिया, दतिया, गुना, खजुराहो, शाजापुर, रीवा, ग्वालियर, नौगांव और रायसेन में न्यूनतम तापमान तीन से पांच डिग्री रिकॉर्ड किया गया है।

yellow-alert

मौसम विज्ञानियों के मुताबिक, अभी कुछ दिन ठंड के तीखे तेवर से राहत की उम्मीद नहीं दिख रही है। 24 दिसंबर तक ठंड के तेवर तीखे बने रह सकते हैं।

इस दौरान प्रदेश के कुछ और हिस्से भी शीतलहर की चपेट में आ सकते हैं। कुछ इलाकों में पाला पड़ने की भी संभावना है, जिससे चना, आलू, हरी सब्जियों की फसल को नुकसान हो सकता है।