कई महीनों से डीए और महंगाई भत्ता भी नहीं दिया, अब निकाय कर्मचारियों के वेतन में कटौती का फैसला!


दरअसल, राज्य शासन निकाय कर्मचारियों को सैलरी भुगतान के लिए क्षति पूर्ति की राशि देता है। अब राज्य सरकार ने इन कर्मचारियों की क्षतिपूर्ति राशि में कटौती का फैसला लिया है।


देश गांव
रोटी-कपड़ा Published On :

बीते 20 अक्तूबर को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि बिगड़ी अर्थवयवस्था के चलते सातवें वेतन आयोग के एरियर की तीसरी किश्त हम नहीं दे पाए थे; लेकिन अब हमने इसे देने का फैसला किया है। किन्तु अब खबर है कि यह दिवाली पर राज्य सरकार के कर्मचारियों की सैलरी में कटौती हो सकती है। 

खबर के अनुसार,कोरोना संकट काल की वजह शासन ने सभी कर्मचारियों के डीए और महंगाई भत्ते पर भी रोक लगा दी थी।  इसके साथ ही निकाय कर्मचारियों को पिछले 2 से 6 महीनों की सैलरी भी देरी से मिल रही है।  जिस वजह से प्रदेश के कुल 410 निकाय कर्मचारियों को नुकसान हो रहा है।  राज्य सरकार हर माह इन कर्मचारियों की सैलरी पर 324 करोड़ रुपये खर्च करता है।

 

लेकिन पिछले 6 महीनों से इन कर्मचारियों पर 220 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं।  जिसे देखते हुए लगता है, ये दिवाली इन कर्मचारियों के लिए सैलरी कटौती वाली ही होगी।

मुख्यमंत्री ने कर्मचारियों को दी खुशखबरी, दीपावली से पहले मिलेंगे ये फायदे

दरअसल, राज्य शासन निकाय कर्मचारियों को सैलरी भुगतान के लिए क्षति पूर्ति की राशि देता है। अब राज्य सरकार ने इन कर्मचारियों की क्षतिपूर्ति राशि में कटौती का फैसला लिया है। सैलरी में कटौती होने से कर्मचारियों को इस बार की दिवाली में भी परेशानी उठानी पड़ सकती है।

राज्य शासन को प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर चुनाव संपन्न करवाने के लिए कर्मचारियों की आवश्यकता होती है। इसके लिए शासन के ही कर्मचारियों को काम में लिया जाता है। ये निकाय कर्मचारी भी वही होते हैं, जो प्रदेश में चुनाव संपन्न करवाते हैं। इस बार प्रदेश में 28 सीटों पर उप चुनाव भी हुए है, जिसमें काम करने वाले कर्मचारियों को राज्य शासन अलग से भुगतान भी करता है। इन्हीं कर्मचारियों को सैलरी भुगतान के लिए क्षति पूर्ति की राशि दी जाती है। जिसमें इस बार कटौती का फैसला लिया गया है।

बीते 20 अक्तूबर को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था, दीपावली से पहले सातवें वेतन आयोग की तीसरी किश्त की 25 प्रतिशत राशि कर्मचारियों के खाते में डाल दी जायेगी। इसी वित्तीय वर्ष में हम पूरे एरियर का भुगतान अपने कर्मचारी भाई-बहनों को कर देंगे। साथ ही उन्होंने कहा था कि, जिन कर्मचारियों का वेतन 40 हजार रुपए मासिक से कम है, उनको अब 10 हजार रुपये त्योहार एडवांस दिया जायेगा। यह त्योहार एडवांस आप 31 मार्च तक कभी भी ले सकते हैं।

(साभार: ज़ी न्यूज़)