भाजयुमो प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य का अपनी ही पार्टी के सांसद पर रेत के अवैध खनन में सांठगांठ का आरोप


प्रेस कॉन्फ्रेंस में  राजपूत ने कहा कि उन्हें यह कहते हुए झूठा फंसाया गया कि धनलक्ष्मी कंपनी को सपोर्ट करो तो जुर्माने का प्रकरण सुलझा दिया जाएगा.


देश गांव
जबलपुर Updated On :

नरसिंहपुर: अवैध रेत खनन मामले में भारतीय जनता युवा मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य एवं भाजयुमो के पूर्व जिला अध्यक्ष आनंद राजपूत ने अपनी ही पार्टी के सांसद राव उदय प्रताप सिंह से जान का खतरा बताया है. आनंद ने एक प्रेस वार्ता कर आरोप लगाया है कि, सांसद राव उदय प्रताप सिंह, कलेक्टर वेद प्रकाश पर धनलक्ष्मी कम्पनी के साथ मिलकर दबाव बनाने के लिए नोटिस जारी करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें इन लोगों से ख़तरा है. 

प्रेस कॉन्फ्रेंस में  राजपूत ने कहा कि उन्हें यह कहते हुए झूठा फंसाया गया कि धनलक्ष्मी कंपनी को सपोर्ट करो तो जुर्माने का प्रकरण सुलझा दिया जाएगा.

इस मामले में जब सांसद राव उदय प्रताप सिंह से उनका पक्ष लिया गया तो उन्होंने कहा कि आरोप बेबुनियाद और मनगढ़ंत हैं. खास बात यह है कि आनंद राजपूत नगरी निकाय में सांसद के प्रतिनिधि भी हैं .

आनंद राजपूत ने प्रेस वार्ता में कहा कि, जब से धनलक्ष्मी जिले में आई है तब से अवैध खनन और गुंडागर्दी में तेजी है. उन्होंने सांसद राव और कम्पनी के मिलीभगत का आरोप भी लगाया है. आनंद ने यह भी कहा कि, सांसद राव उदय प्रताप सिंह के बेटे अनुज के एसएमसीएन नामक कम्पनी है, उसी कम्पनी के डम्पर से रेत परिवहन किया जाता है. उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि धनलक्ष्मी कम्पनी लम्बे समय से रेत का व्यापार कर रही है और इस कम्पनी के लिए कोई भी चेकपोस्ट नहीं बनाया गया है.

गौरतलब है कि, आनंद राजपूत पर बीते दिवस कलेक्टर ने रेत के अवैध खनन को लेकर एक करोड 87 लाख का जुर्माना प्रस्तावित किया है.



Related